mufti 1531213973 618x347

जम्मू-कश्मीर के डिप्टी ग्रैंड मुफ्ती नासिर-उल-इस्लाम ने देश मे मुस्लिमों पर बीजेपी और संघ परिवार की और से एक के बाद एक लगाई जा रही कथित पाबंदियों का हवाला देकर देश के विभाजन की बात कही है।

शरिया अदालतें (दारुल कजा) के मुद्दे पर उन्होने कहा, बीजेपी को शरिया मामलों मे मुसलमानों को अकेला छोड़ देना चाहिए। उन्होने कहा, अगर बीजेपी को मुस्लिमों से परेशानी है तो उन्हें हमें अकेला छोड़ देना चाहिए। भारत में करीब 20 करोड़ मुस्लिम आबादी है। जिनसे उनकी मजहबी आजादी नहीं छिनी जा सकती।

मुफ्ती नासिर-उल-इस्लाम ने कहा, मुसलमानों को कभी लव जिहाद के नाम पर, कभी गौरखा के नाम पर,  कभी तीन तलाक के नाम पर परेशान किया रहा है। देश में एक बार फिर से विभाजन के हालात बन रहे है। अगर हालात यह ही रहे तो मुस्लिमों को अलग देश की मांग कर देनी चाहिए। उन्होने कहा कि अब वक्त आ भी चुका है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

डिप्टी ग्रैंड मुफ्ती ने कहा, मुस्लिमों को बहुत पहले ही ये काम कर देना चाहिए था। अगर बीजेपी को कोई ऐतराज है तो या किसी और को कोई ऐतराज है तो ये नहीं होना चाहिए तो हम उन्हे कहते है कि ठीक है अगर आप हमारे साथ नहीं रहना चाहते है तो आप हमे मंजूर नहीं करते है तो आप अपने रास्ते पर चलिये हम अपने रास्ते पर जाये।

उन्होने कहा कि बीजेपी को शरिया कोर्ट मंजूर नहीं है तो ये आने वाले दिनों की बँटवारे की निशानी है। उन्होने कहा, मुसलमान दुनिया मे कही पर भी रहे वह इस्लामी कानून का ही पाबंद है।