delhi

दिल्ली हाईकोर्ट ने ABVP के उन चारो कार्यकर्ताओं का लाई डिटेक्टर टेस्ट कराने का आदेश दिया हैं जिन्होंने कथित तौर पर नजीब अहमद को गुमशुदगी से एक दिन पहले पीटा था.

जस्टिस जी.एस.सिस्तानी और जस्टिस विनोद गोयल की पीठ ने अपने आदेश में क्राइम ब्रांच को कहा कि वह नजीब अहमद की तलाश के लिए विश्वविद्यालय परिसर की कक्षाओं, छात्रावासों सहित समस्त परिसर को छान मारे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

दरअसल कोर्ट नजीब अहमद की मां फातिमा नफीस की हैवियस कॉर्पस याचिका पर सुनवाई कर रही हैं जिसमे उन्होंने उन्होंने अपने बेटे को पुलिस से कोर्ट और दिल्ली सरकार के समक्ष पेश करने की मांग की है.

कोर्ट ने दिल्ली पुलिस से कहा कि गुमशुदा अहमद का पता लगाने के लिए उन चार छात्रों का लाई डिटेक्टर टेस्ट कराया जाए, जिनपर नजीब को पीटने का शक हैं.

गौरतलब रहें कि 14-15 अक्टूबर की रात को नजीब को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के कार्यकर्ताओं ने पीटा था जिसके बाद से ही वह लापता हैं.

Loading...