naji1

naji1

पिछले डेढ़ साल से गुमशुदा जेएनयू छात्र नजीब अहमद की मां नफीसा ने अपने बेटे को तलाशने के ढुलमुल रवैये से नाराज होकर कुछ छात्रों के साथ मिलकर सीबीआई हेडक्वार्टर पर सोमवार को विरोध प्रदर्शन किया.

इस दौरान उन्होंने कहा, ‘मैं अकेली नहीं हूं, पूरा हिन्दुस्तान यह देख रहा है और समर्थन कर रहा है. सभी मजहबों के लोग और भाई-बहन मेरे साथ हैं. आप इस रवैये को जारी नहीं रख सकते हैं.’ प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए, फातिमा ने आरोप लगाया कि दिल्ली पुलिस के कर्मी प्रदर्शनकारियों का उत्पीड़न कर रहे हैं और उन्हें ‘बांग्लादेशी’ कह रहे हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी उन्होंने अपील की है कि उनके बेटे को ढूंढने में ढील बरतने वाली सीबीआई पर वह एक्शन लें. नजीब की मां ने यह भी कहा है कि अगर उनके बेटे को जल्द नहीं ढूंढा गया तो वह दिल्ली के हर सड़क पर प्रदर्शन करेंगी, अब शांत नहीं बैठेंगी.

प्रदर्शन में शामिल नजीब की बहन ने कहा कि नजीब हमें शुरू से ही दिल्ली पुलिस भटका रही है. उन्होंने जांच एजेंसियों की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए कहा कि इस मामले में सीबीआई ने शुरुआत में ही एक झूठी कहानी गढ़ी. फिर कोर्ट को उसी के जरिये गलत सूचना दी गई. इस कार्यप्रणाली से स्पष्ट होता है कि सीबीआई नजीब को ढूंढ़ने में कितनी दिलचस्पी रखती है.

उन्होंने कहा कि भले ही कोर्ट ने पुलिस से यह मामला लेकर सीबीआई को दिया है लेकिन एजेंसी की जांच भी 16 महीने बाद वहीं की वहीं है. सीबीआई भी अभी तक नजीब की तलाश में असफल रही है. अब नजीब के बारे में जो अफवाहें फैलाई जा रही हैं, उससे घर वालों को मानसिक कष्ट पहुंचता है.

नजीब अहमद के आईएसआईएस में शामिल होने की खबरों को उसकी मां फातिमा ने बेबुनियाद ठहराया. उन्होंने कहा कि यह सभी आरोप मनगढंत हैं. बीते डेढ़ साल से मैं अपने बेटे की तलाश कर रही हूं. हर बार दिल्ली से मुझे खाली हाथ ही जाना पड़ता है.

Loading...