jnu

पिछले दो महीनों से लापता JNU छात्र नजीब अहमद की तलाश में दिल्ली पुलिस का डॉग स्क्वॉड और माउंटेन पुलिस के साथ दुसरे दिन भी सर्च अभियान जारी रहा हैं. लेकिन अब तक नजीब के बारें में कोई सुराग हाथ नहीं लग पाया हैं.

600 की संख्या में पुलिसवाले खोजी कुत्तों के साथ हर जगह की तलाशी ले रहे हैं. 60 फीसदी से ज्यादा हिस्से को खंगाला जा चूका हैं. एक पुलिस अफसर ने बताया कि किसी तरह की अनहोनी को देखते हुए ऐसा किया गया, लेकिन कुत्ते ने जिस तरह का रिसपॉन्स दिखाया, उससे ऐसा नहीं लगता कि नजीब के साथ जेएनयू कैंपस में किसी तरह की कोई अनहोनी हुई होगी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वहीँ क्राइम ब्रांच ने नजीब अहमद के खातों की भी जांच की. 8 दिसंबर को नोटबंदी के बाद से नजीब के खाते में लेनदेन के आंकड़े खंगाले गए. जेएनयू में मौजूद नजीब के खाते में नोटबंदी के बाद लेनदेन नहीं हुआ. इसके अलावा क्राइम ब्रांच नजीब से मारपीट करने वाले ABVP के कार्यकर्ताओं के लाई-डिटेक्टर टेस्ट करने की भी तैयारी कर ली है

डीसीपी क्राइम ब्रांच डॉ. रामगोपाल नाइक के अनुसार, छुट्टियां समाप्त होने के बाद सभी का लाई-डिटेक्टर टेस्ट कराया जाएगा. दिल्ली पुलिस ने ये कारवाई दिल्ली हाईकोर्ट की लताड़ के बाद शुरू की हैं.

Loading...