15 अक्टूबर से लापता JNU छात्र नजीब अहमद के मामलें में एक नया मोड़ आ गया हैं. दिल्ली पुलिस ने नजीब अहमद के परिजनों से 20 लाख की फिरौती मांगने वाले व्यक्ति को गिरफ्तार करने का दावा किया है. दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने शनिवार को यूपी के महाराज गंज इलाके से गिरफ्तार किया है.

अपने बेटे की आस में दर-दर भटक रही नजीब की माता से मुस्लिम टुडे के पत्रकार नवेद चौधरी ने इस मामलें को लेकर बातचीत की. जिसमे उन्होंने बताया कि उन्हें फिरोती के लिए दी दिन से फोन आ रहे हैं.  जिसमें नजीब को छोड़ने के बदले में 20 लाख़ की फ़िरौती की मांग की गई.

उन्होंने कहा की पुलिस ने कॉल ट्रेस करके फ़ोन करने वाले को गिरफ़्तार कर लिया है. हालांकि उन्होंने इसके पीछे दिल्ली पुलिस के आला अधिकारीयों के होने की आशंका जाहिर की हैं. इसकी वजह बताते हुए उन्होंने कहा कि ”उन्होंने ही यह फेक कॉल करवाई है..क्योंकि 23 तारीख़ में इस मामले की सुनवाई जो होने वाली है..वहां दिल्ली पुलिस को अपनी एक महीने की पूरी रिपोर्ट दाख़िल करनी है इसलिए वो ऐसा करवाकर दिखाना चाहती है कि हमने कुछ ना कुछ काम किया है.”

उन्होंने नजीब को लेकर संघर्ष के बारें में कहा कि ‘आख़री साँस तक लड़ती रहूंगी जब तक इस मामले में शामिल हर किसी आरोपी को सज़ा नहीं मिल जाती’ गौरतलब रहें कि जेएनयू के एमएसी बायोटेक्नॉलजी छात्र नजीब 15 अक्टूबर से लापता है. उसके लापता होने से पहले एबीवीपी केकार्यकर्ताओं ने उसके साथ कैंपस में मारपीट की थी.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें