Monday, June 14, 2021

 

 

 

”मुसलमानो ने मंदिर निर्माण में की थी मदद, फिर भी पानी पीने पर आसिफ को पीटा गया”

- Advertisement -
- Advertisement -

यूपी के गाजियाबाद के डासना में पानी पीने पर जिस मंदिर में आसिफ की पिटाई की गई थी। उस मंदिर के निर्माण में स्थानीय मुसलमानों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया था।

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ डासना और मसूरी के मुसलमानों ने बताया कि 80 के दशक में मंदिर का निर्माण हुआ था। मंदिर के लिए डासना नगर पंचायत ने 6 एकड़ ज़मीन दी थी। मंदिर के निर्माण में मुसलमानों ने भी बढ़-चढ़कर सहयोग किया था।

लेकिन यति नरसिंहानंद सरस्वती के मंदिर का प्रमुख बनने के बाद माहौल बदल गया। पहले उन्होंने दशहरा मेले में मुसलमानों को आने से रोका और फिर मंदिर के बाहर मुसलमानों का प्रवेश वर्जित करने का बोर्ड लगा दिया।

हालाँकि इससे पहले तक मुसलमान भी मंदिर परिसर में बने तालाब में डुबकी लगाने जाया करते थे। यहां ये मान्यता है कि तालाब के पानी में डुबकी लगाने से बीमारियां ठीक हो जाती हैं। मंदिर परिसर में एक मैदान भी है जिसमें कभी अखाड़ा हुआ करता था। इसमें हिंदू और मुसलमान बच्चे पहलवानी का प्रशिक्षण लिया करते थे।

हिंसा के वायरल हो रहे वीडियो में आरोपी नंदन यादव पहले बच्चे से उसका नाम पूछता है। ये बच्चा अपना नाम आसिफ बताता है तो इसके बाद आरोपी सवाल करता है कि मंदिर में क्या करने के लिए गए थे। इस पर बच्चा जवाब देता है है कि मैं पानी पीने के लिए गया था। इसके बाद आरोपी उस बच्चे की बुरी तरह पिटाई करने लगता है।

आरोपी श्रृंगी यादव भोपाल के कॉलेज से सिविल इंजीनियरिंग में बीटेक है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मारपीट, वैमनस्यता फैलाने व अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया है।

गाजियाबाद पुलिस ने ट्वीट कर बताया कि उपरोक्त वीडियो का तत्काल संज्ञान लेकर टीम गठित कर मार पिटाई करने वाले व्यक्ति श्रृंगी नंदन यादव पुत्र अश्वनी कुमार यादव निवासी गोपालपुर थाना संवारा भागलपुर बिहार को हिरासत में लिया गया एवं मुकदमा पंजीकरण/वैधानिक कार्रवाई की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles