नई दिल्ली | देश में रोहिंग्या मुस्लिको लेकर खूब चर्चा हो रही है. म्यांमार में सुरक्षाबलो के नरसंहार से बचकर भारत आये काफी रोहिंग्या शर्णार्थियो को देश में शरण देने या नही देने को लेकर दो राय बनी हुई है. जहाँ विपक्ष चाहता है की इन शर्णार्थियो को देश में शरण दी जाए वही मोदी सरकार ने ऐसा करने से मना कर दिया है. राष्ट्रिय सुरक्षा का हवाला देकर केंद्र सरकार ने रोहिंग्या मुस्लिमो को वापिस म्यांमार भेजने की प्रक्रिया शुरू कर दी है.

शुक्रवार को गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने स्पष्ट किया की रोहिंग्या मुस्लिम शरणार्थी नही है बल्कि वो अवैध तरीके से भारत में घुसे है, इसलिए इन्हें वापिस अपने देश जाना होगा. इसी बीच कुछ मुस्लिम संगठन , इन शर्णार्थियो के पक्ष में खड़े हो गये है. उनका कहना है की मोदी सरकार को मानवता दिखाते हुए इन लोगो को यहाँ शरण देने चाहिए. हालाँकि ज्यादातर संगठनो ने सरकार से इस तरह की मांग की है लेकिन कुछ लोगो ने अब सरकार को धमकाना भी शुरू कर दिया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पाकिस्तान मूल के तारिक फ़तेह ने अपने ट्विटर हैंडल से एक ऐसी ही विडियो शेयर की है जिसमे एक मुस्लिम शख्स मोदी सरकार को धमकाते हुए नजर आ रहा है. इस विडियो में कुछ लोग रोहिंग्या मुस्लिमो के समर्थन में नारे लगा रहे है. वही एक शख्स मीडिया से बात करते हुए कई आपत्तिजनक बाते कहता है. यह शख्स हिन्दू और देश को नक़्शे से मिटाने की भी बात कर रहा है. फ़िलहाल यह विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो चूका है.

विडियो में एक मुस्लिम शख्स कहता है की मैं जमीयत उलेमा-ए-हिंद की तरफ से मांग करता हूं कि प्रधानमंत्री जितनी जल्दी हो अपनी चुप्पी तोड़ें और बर्मा में रोहिंग्या मुसलमानों पर हो रहे जुल्मों के खिलाफ कुछ करें.अगर ऐसा नहीं हुआ तो हम यूएन तक इस बात को ले जाएंगे. मुसलमानों को आज बदनाम किया जा रहा है, हमारी कौम एक शांति पसंद कौम है. इसलिए अगर हम मुसलमानों की सुरक्षा के पूरे इंतेजाम नहीं किये गए तो हिंदू भाई याद रखें उनका सिर्फ तारीखों में नाम रह जाएगा और नक्शे पर ये देश नहीं दिखेगा.

Loading...