देश की राजधानी दिल्ली के बवाना में कोरोना वायरस फैलाने की साजिश का आरोप लगाकर एक 22 वर्षीय मुस्लिम शख्स की पिटाई की गई। जिसमे युवक की मौत हो गई। युवक की पहचान बवाना के हरेवली गांव निवासी महबूब अली के रूप में हुई है।

मिली जानकारी के मुताबिक महबूब अली उर्फ दिलशाद तबलीगी जमात के एक कार्यक्रम के लिए भोपाल गया था और करीब डेढ़ माह के बाद वह सब्जियों एक ट्रक में बैठकर दिल्ली वापस आया। उसे पुलिस ने आजादपुर सब्जी मंडी से पकड़ा गया था लेकिन चिकित्सीय परीक्षण के बाद छोड़ दिया गया था।

लेकिन जब वह अपने गांव पहुंचा तो कुछ लोगों ने उस पर कोरोना वायरस फैलाने का आरोप लगाया और खेत में ले जाकर उसकी पिटाई की। मारपीट के दौरान हमलावरों में से एक युवक मोबाइल से वीडियो बनाता रहा, जबकि पीड़ित हाथ जोड़कर बार-बार रहम की गुहार लगाता रहा।

रविवार रात घटना का वीडियो गांव में वायरल हो गया।  बुरी तरह से घायल युवक को एंबुलेंस के जरिए पहले बाबा अंबेडकल अस्पताल ले गए, जहां से उसे जीबी पंत हॉस्पिटल रेफर कर दिया गया।

दिल्ली पुलिस के मुताबिक, बवाना पुलिस थाने में पुलिस ने दिलशाद के पिता श्यामलाल के बयान पर आईपीसी की धारा 323, 341, 506 और 34 के तहत गांव के कुछ लोगों के खिलाफ नामजद केस दर्ज कर लिया है। लॉकडाउन के सरकारी आदेश का उल्लंघन करने के आरोप में दिलशाद अली के खिलाफ भी आईपीसी की धारा 188 के तहत केस दर्ज किया गया है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन