लखनऊ । भाजपा सांसद और अपने बयानो के वजह से हमेशा सुर्ख़ियो में रहने वाले विनय कटियार ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। उन्होंने देश के मुस्लिमों को पाकिस्तान या बांग्लादेश जाने की सलाह दी है। विनय कटियार ने यह बयान AIMIM के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के एक बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए दिया है। उन्होंने यह भी कहा की वंदेमातरम और तिरंगे का अपमान करने वालों के ख़िलाफ़ एक क़ानून लाया जाना चाहिए।

दरअसल असदुद्दीन ओवैसी ने मंगलवार को संसद में बयान दिया था की देश की आज़ादी के 70 साल बाद भी मुस्लिमों को पाकिस्तानी कहा जाता है। इसलिए मोदी सरकार एक क़ानून लाए जिसमें मुसलमानो को पाकिस्तानी कहने पर सज़ा का प्रावधान हो। ऐसे लोगों को तीन साल की क़ैद होनी चाहिए। ओवैसी ने एससी/एसटी ऐक्ट का उदाहरण देते हुए कहा की सरकार ऐसा ही एक क़ानून बनाए।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

हालाँकि ओवैसी ने तंज भरे शब्दों में यह भी कहा की मुझे मालूम हो की सरकार ऐसा कोई क़ानून नही बनाएगी। ओवैसी के इस बयान पर भाजपा सांसद विनय कटियार ने बुधवार को बेहद तीखी टिप्पणी की है। उन्होंने कहा,’ वंदे मातरम और राष्ट्रीय ध्वज का अपमान करने वालों और पाकिस्तान का झंडा फरराने वाले के खिलाफ बिल लाना चाहिए। दूसरी बात यह है की उन्हें (मुस्लिम) देश में रहना ही नही चाहिए।’

विनय कटियार ने आगे कहा,’ उन्होंने जनसंख्या के आधार पर देश का बंटवारा कर दिया तो इस देश में रहने की क्या आवश्यकता थी? उनको अलग भू भाग दे दिया गया, बांग्लादेश या पाकिस्तान जाएं, उनका यहां क्या काम।’ मालूम हो कि हाल ही में कटियार ने ताजमहल को लेकर कहा था कि वह एक हिंदू मंदिर है इसलिए ताजमहल को ध्वस्त कर देना चाहिए, सिर्फ़ ताजमहल की मीनारों को छोड़ देना चाहिए।