netanyahu protest 620x400

netanyahu protest 620x400

कोलकाता । इज़राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू, फ़िलहाल भारत यात्रा पर है। इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के साथ, गुजरात में एक रोड शो किया। इसके अलावा वह और उनकी पत्नी, ताज दीदार के लिए आगरा भी पहुँचे। हालाँकि नेतन्याहु का देश में गर्मजोशी के साथ स्वागत किया गया लेकिन कोलकाता में मुस्लिम संगठनो ने उनकी भारत यात्रा का विरोध किया।

गुरुवार को कई मुस्लिम समूह उनकी भारत यात्रा के विरोध में सडको पर उतरे। उन्होंने गांधी मैदान में भर्ती विरोध प्रदर्शन के बीच नेतन्याहु और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का पुतला फूँका। इस दौरान प्रदर्शन कर रहे अखिल बंगाल अल्पसंख्यक युवा संघ के महासचिव मोहम्मद कमरुज्जामां ने कहा कि इज़राइल ने फ़िलिस्तीन में मुस्लिमों का जीना दूभर किया हुआ है और हमारे प्रधानमंत्री उनका भारत में स्वागत कर रहे है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

कमरुज्जामां ने आगे कहा,’ मुस्लिमों की भूमि और सम्पत्ति पर क़ब्ज़ा किया जा रहा है , येरुशलम को इज़राइल अपनी राजधानी बता रहा है और अमेरिका इसको अपनी मंज़ूरी दे रहा है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने फिलिस्तीनी नेताओं, मुस्लिम देशों और बड़े पैमाने पर वैश्विक समुदाय की निंदा की परवाह किए बग़ैर येरुशलम को इज़राइल की अधिकारिक राजधानी बता दिया।’

नेतन्याहु के साबरमती आश्रम जाने की निंदा करते हुए कमरुज्जामां ने कहा कि महात्मा गांधी ने इज़राइल की नीतियो को कभी मंज़ूरी नही दी। फिर मोदी उनको साबरमती क्यों लेकर गए? क्यों एक पवित्र जगह का अपमान किया गया? हमारी माँग है की भारत को इज़राइल के साथ सभी व्यापारिक सम्बंध ख़त्म कर लेने चाहिए। इस दौरान कमरुज्जामां ने ममता बनर्जी की भी तारीफ़ की। उन्होंने कहा कि ममता ने नेतन्याहु का स्वागत नही कर अच्छा काम किया है।