jhaa

झारखंड के रांची के डोरंडा थाने में 18 जुलाई को एक ऐसा मामला पेश आया है। जिसने फिल्म सरफरोश के सलीम के किरदार को हकीकत मे जमीन पर लाकर रख दिया।

डोरंडा थाने में थानाप्रभारी के तौर पर पदस्थापित इंस्पेक्टर आबिद खान को एक हत्या के मामले मे बीजेपी नेता ने थाना परिसर में धर्म के कारण सरेआम अपमानित किया। जिसके बाद आबिद खान इतने आहत हुए कि उन्होने सीधे सवाल उठाया कि क्या मुसलमान होना मेरा गुनाह है? क्या मैं हिन्दुस्तानी नहीं हैं? क्या मुझे सरकार ने यहां पदस्थापित नहीं किया है?”

Loading...

गुस्से में लाल खान ने कहा, “मेरा यही गुनाह है कि मैं मुसलमान हूं। आप लोग जितना कह रहे हैं, हम उतना बर्दाश्त कर रहे हैं। हमें सरकार ने यहां बैठाया है न कि खुद आकर थाने में बेठे हैं।” उन्होंने कहा, “हम इस देश के नागरिक नहीं हैं क्या? कोई नहीं कह सकता कि हम बेईमान हैं या चोर हैं।”

अब सोशल मीडिया पर इस घटना का विडियो वायरल हो रहा है। ऐसे में रांची के एसएसपी अनीस गुप्ता ने भी मामले की जांच कराने की बात कही है। बता दें कि राज्य में बीजेपी की रघुवर दास सरकार है।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें