नई दिल्ली | अपनी बहतरीन व्यवस्था और सुरक्षा के पुख्ता इंतजामो की वजह से दिल्ली मेट्रो में रोजाना लाखो लोग सफ़र करते है. लेकिन सोमवार को मेट्रो में सफ़र के दौरान इंसानियत को शर्मसार करने का मामला सामने आया है. दरअसल मेट्रो में सफ़र कर रहे एक मुस्लिम बुजुर्ग को दो लडको ने केवल अपमानित किया बल्कि उसके साथ धक्का मुक्की भी की. यही नही बीच बचाव करने आये कुछ लोगो को भी उन्होंने बेइज्जत किया.

Loading...

घटना दिल्ली मेट्रो के वॉलेट लाइन की है. यहाँ एक मुस्लिम बुजुर्ग सफ़र करने के लिए मेट्रो में चढ़ा. लेकिन भीड़ की वजह से बुजुर्ग को कोई सीट नही मिली. तभी उन्होंने दो लडको को सीनियर सिटिजन की सीट पर बैठे देखा. उन्होंने दोनों लडको से सीट छोड़ने का आग्रह किया तो उन्होंने बुजुर्ग के साथ न केवल बदतमीजी की बल्कि उनके साथ धक्का मुक्की भी करने लगे.

उन दोनों लडको ने बुजुर्ग को पाकिस्तानी कहकर अपमानित करते हुए कहा की यह मेट्रो हिन्दुस्तानियों के लिए है, पाकिस्तानियों के लिए नही. अगर सीट चाहिए तो पकिस्तान चले जाओ. इसी बीच मेट्रो में एआइसीसीटीयू के राष्ट्रीय सचिव संतोष रॉय भी सफ़र कर रहे थे. जब उन्होंने लडको को बुजुर्ग के साथ धक्का मुक्की करने से रोका तो उन्होंने संतोष राय का कॉलर पकड़ कर उनको मामले से दूर रहेने के लिए कहा.

बाद में खान मार्किट मेट्रो स्टेशन आने पर मेट्रो गार्ड ने दोनों लडको को पकड पुलिस के हवाले कर दिया. जहाँ उन्होंने अपनी गलती मानते हुए बुजुर्ग से लिखित में माफ़ी मांगी. इस पूरी घटना को ऑल इंडिया प्रोग्रेसिव महिला एसोसिएशन की सचिव कविता कृष्णन ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा है. उनकी यह पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो चुकी है. उन्होंने यह भी बताया की लडको ने जाते जाते बुजुर्ग को देख लेने की भी धमकी दी थी.

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें