विसनगर | बीजेपी के कट्टर हिन्दुत्वादी नेता योगी आदित्यनाथ के उत्तर प्रदेश का मुख्मंत्री बनने के बाद हर जगह उन्ही की चर्चा हो रही है. पूरा देश उनकी और टकटकी लगाए देख रहा है की की वो सरकार को कैसे चलाएंगे. क्या वो अपनी छवि के अनुरूप कुछ कड़े फैसले लेंगे या सबका साथ और सबका विकास की निति पर काम करेंगे. हालाँकि कट्टर हिन्दुत्वादी होने के बावजूद उनके बारे में कुछ रोचक जानकारिया भी सामने आई है.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के गृह प्रदेश गुजरात से योगी आदित्यनाथ का गहरा नाता है. यहाँ के विसनगर के नाथ संप्रदाय वाले मठ के महंत गुलाबनाथ बापू , योगी आदित्यनाथ के गुरुभाई है. हालाँकि गुलाबनाथ बापू का अब निधन हो चूका है लेकिन योगी उनको काफी मानते थे और साल में दो बार विसनगर मठ जरुर जाते थे. बताते है की योगी के गुरु महंत अवैद्यनाथ, गुलाबनाथ के भी गुरु थे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसी वजह से गुलाबनाथ , योगी को अपना गुरुभाई मानते थे. चौकाने वाली बात यह है की महंत गुलाबनाथ बापू का जन्म एक मुस्लिम परिवार में हुआ था. उनके बचपन का नाम गुल मोहम्मद पठान था. लेकिन 18 साल की उम्र में महंत गुलाबनाथ ने महंत बालकनाथ से दीक्षा ग्रहण की. इसके बाद वो नाथ संप्रदाय से जुड़ गए. उनको विसनगर मठ का महंत चुन लिया गया.

6 दिसम्बर 2016 को महंत गुलाबनाथ का निधन हो गया. योगी उनके अंतिम संस्कार में शरीक हुए और नए महंत का चुनाव भी उन्ही ने किया. निधन से कुछ दिन पहले ही गुलाबनाथ बापू, गोरखपुर मठ पहुंचे थे जहाँ उनको योगी और प्रधानमंत्री मोदी ने सम्मानित भी किया था. विसनगर मठ के नए महंत शंकरनाथ ने बताया की योगी और गुलाबनाथ का रिश्ता काफी प्रगाढ़ था.

गुलाबनाथ , नाथ संप्रदाय से जुड़े होने के कारण योगी और महंत आदित्यनाथ से काफी जुडाव रखते थे. वो गुरु-शिष्य परम्परा की छठी पीढी थे. बापू गोरखपुर मठ में होने वाले सभी बड़े कार्यक्रम में शरीक होते थे और योगी साल में दो बार यहाँ आते थे. शंकरनाथ को योगी से बड़ी उम्मीदे है. उन्होंने कहा की हम उन्हें 25 साल से जानते है वो बड़े ही उर्जावान और नए विचारो को धारण करने वाले है. उम्मीद है वो अच्छे मुख्यमंत्री साबित होंगे.

Loading...