Friday, June 25, 2021

 

 

 

धर्म परिवर्तन के बिना मुस्लिम लड़की की शादी हिंदू लड़के के साथ अमान्य: हाई कोर्ट

- Advertisement -
- Advertisement -

पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट ने एक मामले की सुनवाई के दौरान बड़ा फैसला देते हुए कहा कि किसी भी मुस्लिम लड़की की शादी हिंदू लड़के के साथ तब तक मान्य नहीं हो सकती जबकि वह अपना धर्म परिवर्तन न कर लें। हालांकि कोर्ट ने कहा कि दोनों आपसी रजामंदी के साथ रह सकते हैं।

18 साल की मुस्लिम युवती और 25 साल के एक हिंदू युवक की याचिका पर सुनवाई के दौरान कोर्ट ने यह टिपण्णी की। कोर्ट ने कहा कि लड़की के हिंदू धर्म अपनाने तक शादी अमान्य होगी। हालांकि दोनों वयस्क हैं तो आपसी सहमति से दोनों साथ रह सकते हैं।

दोनों ने हाल ही में एक हिंदू मंदिर में शादी की। दोनों के परिवार की तरफ से धमकी मिलने के चलते दोनों ने कोर्ट में सुरक्षा की अर्जी लगाई थी। दोनों ने कोर्ट को यह भी बताया कि उन्होंने अंबाला के एसपी के पास भी सुरक्षा के लिए गुहार लगाई थी लेकिन उन्हें वहां से कोई मदद नहीं मिली।

एसपी से मदद न मिलने पर उनके पास कोर्ट आने के अलावा कोई विकल्प नहीं था। कोर्ट ने मामले की सुनवाई के दौरान अंबाला एसपी को दोनों की सुरक्षा के त्वरित इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं।

लाइव लॉ की रिपोर्ट के अनुसार इस दौरान अदालत ने नंदकुमार और एक अन्य बनाम केरल राज्य और अन्य: 2018 (2) आरसीआर (सिविल) 899 में सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का भी उल्लेख किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles