muslim girl marry chritian boy 620x400
muslim girl marry chritian boy 620x400
image credit: ANI

तिरुवंतपुरम | हमारा देश चाहे कितना भी आधुनिक हो जाए लेकिन आज भी दुसरे धर्म में की गयी शादी को सामाजिक मंजूरी मिलना बेहद टेढ़ी खीर माना जाता है. रोजाना ऐसे कई मामले सामने आते है जिसमे परिवार का सिर्फ इसलिए बहिष्कार कर दिया जाता है क्योकि उसने दुसरे धर्म में अपने बेटे या बेटी की शादी कर दी. एक ऐसा ही मामला केरल में भी सामने आया है. यहाँ एक मुस्लिम लड़की द्वारा दुसरे धर्म के लड़के से शादी करना मस्जिद कमिटी को पसंद नही आया.

इसलिए मस्जिद कमिटी ने पुरे परिवार का सामाजिक बहिष्कार करने का फैसला सूना दिया. यह घटना केरल के मल्लाप्पुरम जिले की है. यहाँ रहने वाली एक मुस्लिम लड़की जसीला ने हाल ही में एक इसाई लड़के से शादी की है. जसीला के पिता युसूफ ने न केवल इस शादी के लिए अपनी इजाजत दी बल्कि एक शानदार पार्टी का भी आयोजन किया, जिसमे इलाके के काफी लोगो ने भाग लिया. इस शादी की कुछ तस्वीरे फेसबुक पर भी डाली गयी है.

यही बात यहाँ की मस्जिद कमिटी को नागवार गुजरी और उन्होंने एक नोटिफिकेशन जारी कर सभी लोगो से युसूफ के परिवार का सामाजिक बहिष्कार करने का आदेश दे दिया. मदारुल इस्लाम संघम महाल्लु कमिटी के सचिव की और से जारी इस नोटिफिकेशन में लिखा गया की मस्जिद में आने वाली सभी लोगों से आग्रह किया गया है कि कुन्नुम्मल यूसुफ के परिवार से सारे संबंध तोड़ दिए जाएं और उनका समाजिक बहिष्कार हो.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस नोटिफिकेशन में आगे लिखा गया की हमने फैसला लिया है कि कोई भी व्यक्ति यूसुफ और उसके परिवार से न ही मस्जिद से जुड़े किसी काम में और न ही किसी अन्य मामले में किसी भी तरह का संबंध रखेगा. वही मस्जिद कमिटी के फैसले के बाद जसीला के अंकल रशीद ने फेसबुक पर शादी की कुछ तस्वीरे शेयर की. इसके साथ उन्होंने लिखा की यह जसीला का हक़ है की वो यह तय करे की उसे उसे किसके साथ शादी करनी है. जसीला और टिस्को की शादी पहली नहीं है जो गैर-धार्मिक है. क्या मस्जिद समय के साथ बदल रही लहरों को बदल पाएगा?

Loading...