सोनीपत | केंद्र में मोदी सरकार बनने के बाद गौरक्षको की गुंडागर्दी अपने चरम पर है. आलम यह है की खुद मोदी को एक बयान में इन लोगो की निंदा करनी पड़ी. लेकिन इतना सब होने के बाद भी इनकी गुंडागर्दी रुकने का नाम नही ले रही है. आये दिन निर्दोष लोग इनका शिकार बन रहे है. अभी दस दिन पहले राजस्थान के अलवर में गौरक्षको ने एक शख्स की इतनी बेरहमी से पिटाई की जिसकी वजह से उसकी जान चली गयी.

गौरक्षको के निशाने पर मुस्लिम और दलित समुदाय के लोग ज्यादा है. अलवर में जिस शख्स की जान गयी वो भी मुस्लिम समुदाय से ताल्लुक रखता था. ऐसी परिस्थितियों में हरियाणा के एक मुस्लिम ने सामाजिक और सौहार्द की मिसाल पेश करते हुए एक ऐसा काम किया जिसकी प्रशंसा सभी लोग कर रहे है. हरियाणा के सोनीपत जिले के खरखौदा में रहने वाले नूर खान ने अपनी बेटी की शादी में गौदान कर सबका दिल जीत लिया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

नूर खान ने बताया की उनकी बेटी गुलशन को गायो से बहुत लगाव था. सड़क पर चलते हुए अगर कोई दिख गयी तो वो उसे रोटी और गुड जरुर खिलाती थी. यही नही वो कई बार मुझसे आग्रह कर चुकी थी की वो घर पर एक गाय लेकर आये. लेकिन घर में जगह कम होने की वजह से मैं गाय नही ला सका. लेकिन मैं अपनी बेटी से वादा किया था की उसकी शादी में गौदान करूँगा.

गुलशन की शादी में नूर ने हसनगढ़ की गोशाला में 5100 रूपए के साथ एक गाय को दान दिया. नूर खान की इस पहल का स्थानीय नागरिको ने स्वागत किया है. इसके अलावा शादी में शरीक हुए संत गोपालदास ने कहा की यह एक अच्छी पहल है और इससे दोनों समुदाय के बीच सद्भाव बढेगा. और लोगो को भी इससे सीख लेनी चाहिए. नूर खान के इस कदम की पुरे हरियाणा में चर्चा हो रही है.

Loading...