मालदा | अक्सर संप्रदायिक दंगो की वजह से चर्चा में रहने वाला मालदा, इस बार सोहार्द और इंसानियत की मिसाल पेश करने के मामले में सुर्खियों में है. यहाँ रहने वाले कुछ मुस्लिम परिवारो ने हिन्दू व्यक्ति के शव को न केवल कन्धा दिया बल्कि पुरे हिन्दू रीती रिवाज से उसका अंतिम संस्कार भी किया. मुस्लिमो का यह व्यवहार पुरे इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है.

मालदा के शेखपुरा में रहने वाले विश्वजीत राजक नाम के व्यक्ति की सोमवार को अचानक से मौत हो गयी. लेकिन परिवार की आर्थिक स्थिति बेहद कमजोर होने की वजह से विश्वजीत के अंतिम संस्कार के भी लाले पड़ गए. वही परिवार में केवल बूढ़े माँ बाप होने की वजह से उसके शव को कन्धा देने लायक भी लोग वहां मौजूद नही थी. यही सब सोचकर विश्वजीत की माँ सारी रात अपने बेटे के शव के पास बैठकर रोटी रही.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की खबर अनुसार जब यह बात उनके आस पड़ोस को लगी तो वो तुरंत उनकी मदद करने के लिए पहुंचे. बताते चले की शेखपुरा इलाका मुस्लिम बहुल क्षेत्र है. यहाँ गिने चुने हिन्दू परिवार ही रहते है. विश्वजीत की माँ ने अखबार को बताया की हम सारी रात यही सोचते रहे की अब क्या करे. लेकिन पड़ोस में रहने वाले मुस्लिम परिवारों ने उनकी पूरी मदद की.

उन्होंने विश्वजीत के अंतिम संस्कार के लिए सारा सामान जुटाया और अर्थी को कन्धा देकर उसको शमशान तक ले गए. विश्वजीत की माँ के अनुसार रास्ते में सभी मुस्लिमो ने हिन्दू रीती रिवाज के अनुसार राम नाम का उच्चारण भी किया. इसके अलावा शमशान में भी पुरे हिन्दू रीती रिवाजो के साथ विश्वजीत का अंतिम संस्कार किया गया. यह घटना अपने आप में ही बड़ी अद्भुत है क्योकि फ़िलहाल देश में ऐसी बहुत सी ताकते है जिन्हें यह सब बिलकुल अच्छा नही लगता और वो हमेशा दोनों सम्प्रदायों में दरार डालने का प्रयास करते रहते है.