india muslim 690 020918052654

भारत में धार्मिक समुदायों के बीच रोजगार के चयन में भी काफी भिन्नता सामने आई है।जनगणना के आंकड़ों के अनुसार पता चला है कि देश के ज्यादातर हिंदू कृषि के क्षेत्र में काम कर रहे हैं. जबकि मुस्लिम समुदाय औद्योगिक क्षेत्र से जुड़ा हुआ है।

रजिस्ट्रार जनरल और जनगणना आयुक्त द्वारा जारी 2011 के आंकड़ों मे दर्शाया गया है कि देश में कृषि गतिविधियों में लगे 45.40 प्रतिशत कर्मचारी हिंदू हैं। जबकि करीब 40 फीसदी मुस्लिम समुदाय के लोग गैर-कृषि क्षेत्र में काम करते हैं।

आकड़ों के अनुसार, मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में ज्यादातर मुसलमान काम करते हैं। रिपोर्ट के अनुसार, सात साल से ज़्यादा उम्र के अशिक्षितों की संख्या मुसलमानों में सबसे ज्यादा 42.72 प्रतिशत है। जबकि हिंदुओं के बीच ये आंकड़ा 36.40 प्रतिशत का है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

भारत सरकार के पूर्व सचिव पीएस कृष्णन और पिछड़ा वर्ग के राष्ट्रीय आयोग के पूर्व सदस्य ने कहा, ”उत्तर भारत में मुस्लिम आबादी घनी है। उनमें से ज्यादातर कारीगर हैं। वे बुनाई, बर्तन और हैंडलूम जैसी चीजें पर काम करते हैं। ये समझना अहम है कि अधिकांश मुसलमान कृषि के क्षेत्र में नहीं हैं।”

ध्यान रहे भारत में मुस्लिमों की समकालीन स्थिति पर राजिंदर सच्चर कमेटी की रिपोर्ट मे भी बताया गया कि दूसरे धार्मिक विभाजनों की तुलना में मुस्लिम देश में कम से कम जमीन के मालिक हैं।