javd

मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने महाराष्ट्र के भिवंडी में 20वे ऑल इंडिया उर्दू बुक फेयर के उद्घाटन समारोह में मुस्लिमों के लिए गुणपरक शिक्षा की जरूरत पर जोर देते हुए कहा कि मुस्लिम समुदाय को अगर अच्छी शिक्षा नहीं मिलेगी तो इससे देश का विकास अधूरा ही रहेगा. उन्होंने कहा, ‘समाज का एक तबका अच्छा पढ़ेगा और दूसरा तबका पीछे रह जाएगा. इससे देश आगे नहीं बढ़ेगा.’

उन्होंने कहा “मुस्लिम समुदाय कि शिक्षा के बारे में सोचना जरूरी है. अगर सरकारी स्कूलों में अच्छी शिक्षा न मिले, तो ज्यादातर बच्चे अपनी पढ़ाई 9वीं कक्षा पहुंचने तक अपनी शिक्षा छोड़ देते हैं.  उन्होंने आगे कहा, मैं इसे रोकना चाहता हूं और मैंने इस चुनौती को स्वीकार किया है कि भारतीय भाषा के सभी सरकारी स्कूलों में हम क्वॉलिटी में सुधार करेंगे.

जाकड़ेकर ने उर्दू भाषी स्कूलों को बेहतर बनाने के लिए किए जा रहे कामों के बारे में भी जानकारी देते हुए कहा कि ‘मैंने इस दिशा में कई कदम उठाए हैं. उर्दू की किताबों और पत्रिकाओं का प्रकाशन शुरू किया गया है और उर्दू समाचारपत्रों में विज्ञापन दिए जा रहे हैं. मैं एक ऑनलाइन उर्दू कोर्स शुरू करना चाहता हूं ताकि लोग घर बैठे इस भाषा को सीख सकें.

इसके अलावा उन्होंने उर्दू भाषा के विकास को गति देने के लिए एक पांच वर्षीय योजना के बारे में भी जानकारी दी. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि अरबी और फारसी भाषाओं को सिखाने पर भी ध्यान दिया गया है क्योंकि हमारे देश से कई लोग इन भाषाओं से जुड़े देशों में भी जाते हैं.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें