Monday, August 2, 2021

 

 

 

मुमताज काजी देश और मिल्लत के लिए बनी मिसाल, राष्ट्रपति ने नारी शक्ति पुरस्कार किया सम्मानित

- Advertisement -
- Advertisement -

एशिया का पहली महिला डीजल इंजन चालक होने का गौरव प्राप्त करने वाली मुंबई की मोटरवुमेन मुमताज एम. काजी को राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने नारी शक्ति पुरस्कार’ से सम्मानित किया.

राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने बुधवार को इस साल विभिन्न क्षेत्रों से सात शीर्ष महिलाओं को इस पुरस्कार से सम्मानित किया. नारी शक्ति पुरस्कार के रूप में मुमताज को 1 लाख रुपये नकद और प्रमाण पत्र प्रदान किया गया. मुमताज को कई तरह की रेलगाड़ियों के परिचालन में महारत हासिल है.

मुमताज़ वर्तमान में छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस-ठाणे खंड पर मध्य रेलवे की उपनगरीय लोकल ट्रेन को चलाती हैं. जो कि महिला चालक द्वारा चलाए जानेवाला अब तक का भारत का पहला और सबसे भीड़भाड़ वाला रेलवे मार्ग है. केंद्रीय रेलवे के अधिकारी ने बताया वे करीब 25 साल से ट्रेन इंजन की चालक रही हैं और देश की लाखों महिलाएं उनसे प्रेरणा हासिल कर रही हैं.

उन्होंने 1989 में सांताक्रूज उपरनगर के सेठ आनंदीलाल पोद्दार हाईस्कूल से पढ़ाई की थी और रेलवे में नौकरी के लिए आवेदन किया था. हालांकि उनके पिता अल्लारखू इस्माइल काथवाला जो की एक वरिष्ठ रेलवे कर्मचारी थे ने भी उनकी इस काम का विरोध किया था. हालंकि आज उनका पूरा परिवार उनपर गर्व करता हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles