मुंबई: मुंबई पुलिस (Mumbai Police) ने रिपब्लिक टीवी (Republic TV) के प्रधान संपादक अर्नब गोस्वामी (Arnab Goswami) को पालघर में साधुओं की भीड़ के हत्या और अप्रैल में बांद्रा स्टेशन के पास प्रवासी कामगारों की भीड़ पर प्रसारित कार्यक्रम को लेकर एक मामले में शनिवार को वरली डिविजन के एसीपी के सामने पेश होना था। लेकिन वह पेश नहीं हुए।

अर्नब को पिछली बार 16 अक्टूबर को बुलाया गया था। उस बार भी वह नहीं आए थे। अपने वकील को भेजा था। तब पुलिस ने उन्हें शनिवार 24 अक्टूबर की तारीख दी थी, लेकिन वह इस दूसरी तारीख पर भी पेश नहीं हुए। अब एसीपी ने उन्हें 7 नवंबर की नई तारीख दी है।

बता दें कि गोस्वामी के खिलाफ मुंबई में दो एफआईआर दर्ज हैं। एक एनएम जोशी मार्ग पुलिस स्टेशन पर दर्ज की गई है जबकि अन्य प्योढोनिए पुलिस स्टेशन में। एनएम जोशी मार्ग पुलिस स्टेशन के सीनियर इंस्पेक्टर ने एसीपी को एक प्रस्ताव भेजते हुए गोस्वामी के खिलाफ प्रिवेंटिव कार्रवाई की मांग की है। इस प्रस्ताव पर एसीपी ने कार्रवाई की प्रक्रिया की शुरुआत कर दी है।

गोस्वामी से एक जमानतदार के साथ एक साल के लिए 10 लाख रुपये का मुचलका लिया जा सकता है जो उनके व्यवहार को नियंत्रित करे। मुंबई पुलिस ने आईपीसी की धाराओं 153, 153A, 295A, 500,  511, 120 (B), के तहत भी अर्नब के खिलाफ मामला दर्ज किया हुआ हैं।

चैप्टर केस में एसीपी को विशेष कार्यकारी दंडाधिकारी यानी मैजिस्ट्रेट के अधिकार मिले होते हैं। एसीपी मैजिस्ट्रेट की हैसियत से उसके आदेश न मानने वाले को सीधे जेल भी भेज सकता है। हालांकि ऐसा असाधारण स्थितियों में होता है।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano