फेक टीआरपी घोटाले में फंसे रिपब्लिक टीवी और इसके संपदाक, एंकर और रिपोर्टरों की मुसीबत कम होने के बजाय बढ़ती ही जा रही है। मुंबई पुलिस ने शुक्रवार को रिपब्लिक टीवी की एडिटोरियल टीम के खिलाफ भी केस दर्ज किया है।इन पर मुंबई पुलिस को कथित तौर पर बदनाम करने का आरोप है।

एफआईआर स्पेशल ब्रांच ने एन एम जोशी मार्ग थाने में दर्ज कराई गई एफ़आईआर में कहा गया कि पुलिस की सोशल मीडिया लैब ने नोट किया कि 10 अक्टूबर को रिपब्लिक टीवी ने एक शो प्रसारित किया जिसका शीर्षक ‘मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के खिलाफ बगावत’ रखा गया था।

इस कार्यक्रम में कहा गया कि पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह मुंबई पुलिस की छवि खराब कर रहे हैं और उनके आदेशों को अब जूनियर अधिकारी नहीं मान रहे हैं। कार्यक्रम में पुलिस विभाग के बड़े अधिकारियों से जवाब मांगा गया था। इस शो को शिवानी गुप्ता नाम की एंकर और रिपोर्ट सागरिका मित्रा ने पेश किया था। इसमें रिपब्लिक के रिपोर्टर शावन सेन की रिपोर्ट को दिखाया था।

एफआईआर में आरोप लगाया गया है कि, “ऐसा कार्यक्रम प्रसारित कर चैनल और इसके पत्रकारों ने जानबूझकर मुंबई पुलिस और पुलिस कमिनश्नर के खिलाफ माहौल बनाने की कोशिश की साथ ही इससे मुंबई पुलिस की छवि भी खराब हुई।” पुलिस ने इस मामले में पुलिस के खिलाफ माहौल बनाने की धारा 3(1) , धारा 500 (मानहानि) आदि के तहत मामला दर्ज किया है।

इस मामले पर प्रतिक्रिया देत हुए रिपब्लिक टीवी ने कहा है कि यह ‘मीडिया के अधिकारों पर हमला’ है और वह ‘मज़बूत रणनीति’ के साथ लड़ेगा।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano