साहिबाबाद | कभी मुलायम सिंह यादव के सबसे करीबी रहे अमर सिंह, आजकल उनसे दुरी बनाए हुए है. मुलायम-अखिलेश के बीच हुई कलह में खलनायक बने अमर सिंह ने इस मामले में अपनी टीस जाहिर करते हुए कहा की पार्टी में मेरी स्थिति इधर कुआँ उधर खाई वाली हो गयी है. उन्होंने अखिलेश यादव पर अपना अपमान करने का भी आरोप लगाया.

साहिबाबाद में वोट डालने पहुंचे अमर सिंह ने पत्रकारों से हर पहलु पर बात की. उन्होंने पार्टी में अपनी स्थिति और मुलायम से दूरी बना लेने पर सफाई देते हुए कहा की अगर मैं मुलायम सिंह से नही मिलता हूँ तो आप कहते है की उनसे दूरी बना ली है और अगर मिलता हूँ तो अखिलेश मानते है की मैं नेताजी को भडकाता हूँ. इसका मतलब पार्टी में मेरे लिए एक तरफ कुआं तो दूसरी तरफ खाई है.

मुलायम परिवार में मची कलह में खलनायक बनाने को लेकर अमर सिंह ने कहा की अखिलेश ने मुझे इस मामले में खलनायक बना दिया. मेरा खूब अपमान किया गया, यहाँ तक की माँ बहन की गालिया भी दी गयी. इसलिए मैं कहता हूँ की अगर मुलायम सिंह को मुझसे मिलना है तो अपने राष्ट्रिय अध्यक्ष ( अखिलेश यादव) से इजाजत लेकर मिले. और जब हम दोनों बात कर रहे हो तो अपना एक दूत भी वहां मौजूद रखे जिससे बाद में कहा जा सके की मैं नेता जी को नही भड़काया.

अखिलेश द्वारा अपमान करने पर अमर सिंह ने कहा की इस देश की परम्परा बुजुर्गो का सम्मान करने की रही है. यहाँ भगवान् राम ने पिता के कहने पर सत्ता त्याग कर वनवास जाना कबूल कर लिया था. भीषम पितामह ने पिता की खातिर सारी उम्र विवाह नही किया. खुद को वनवास भेजने के सवाल में उन्होंने कहा की मैं कोई राजनितिक आदमी नही हूँ, एक कारोबारी हूँ इसलिए कारोबार करता रहूँगा. तो वनवास जाने का तो सवाल ही नही उठता.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें