prin

prin

अयोध्या विवाद को लेकर एक और नया पक्ष सामने आया है. जिसने बाबरी मस्जिद की मिलकियत पर अपनी दावेदारी पेश की है. ये कोई और नहीं बल्कि मुग़ल शहजादा है.

आखिरी मुगल बादशाह बहादुर शाह ज़फर के वंशज प्रिंस याकूब हबीबुद्दीन तुसी ने बाबरी मस्जिद पर दावा पेश करते हुए कहा कि मुगल बादशाह मुग़ल काल में बनी है. ऐसे में इस मस्जिद पर उनका हक़ है. उन्होंने बाबरी मस्जिद का मुतव्व्ली बनने के लिये पेटिशन भी दाखिल की है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मुगल प्रिंस ने बाबरी मस्जिद पर सुन्नी सेंट्रल वक्फ़ बोर्ड के अधिकार को खारिज करते हुए कहा कि यह सम्पत्ति मुगल पीरियड की है इस पर  सुन्नी सेंट्रल वक्फ़ बोर्ड का कोई अधिकार नही है.

उन्होंने बताया कि अगर वो मुतवल्ली बनते हैं तो बाबरी मस्जिद और राम मंदिर का मुद्दा अयोध्या के लोगों के साथ आपसी सहमति से हल करेंगे. उन्होंने कहा कि इतने दिनों तक सुन्नी सेंट्रल वक्फ़ बोर्ड बाबरी मस्जिद का मसला हल नहीं कर पाया इसलिए मुझे आना पड़ा.

साथ ही उन्होंने बाबरी मस्जिद पर शिया वक्फ़ बोर्ड के दावे  को भी खारिज किया और कहा कि शिया वक्फ़ बोर्ड का इससे कोई वास्ता नहीं है.

Loading...