भोपाल | देश में फ़िलहाल एक नए तरह का राष्ट्रवाद पैदा हो रहा है. इस नए राष्ट्रवाद में कुछ लोग दूसरो की राष्ट्रभक्ति को प्रमाणिक करने का काम कर रहे है. खासकर मुस्लिम समुदाय के लोगो, इन कथित राष्ट्रभक्तो के निशाने पर है. यही वजह है की ये लोग मुस्लिम समुदाय के लोगो को पर देशभक्ति साबित करने का दबाव डाल रहे है. इसके लिए उन्हें कई परीक्षाओ से गुजारा जा रहा है. मसलन वन्देमातरम गाने या भारत माता की जय जैसे नारों का उद्घोष करने के लिए कहना.

इसलिए पुरे देश में वन्देमातरम और राष्ट्रगान को लेकर खूब बहस हो रही है. पहले उत्तर प्रदेश सरकार ने स्वंत्रता दिवस के मौके पर सभी मदरसों को आदेश दिया की वो अपने यहाँ सांस्कृतिक कार्यक्रमो का आयोजन करे और ध्वजारोहण के साथ साथ राष्ट्रगान भी गाया जाए. सरकार ने इस पुरे कार्यक्रम की विडियोग्राफी करने के भी आदेश दिए थे जिस पर काफी हंगामा भी हुआ था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

हालाँकि कुछ मदरसों ने सरकार के इस आदेश को मानने से भी इंकार कर दिया था. अब मध्य प्रदेश में भी कुछ इसी तरह की आवाज उठी है. खुद मध्य प्रदेश के शिक्षा मंत्री का कहना है की मदरसों के अन्दर रोजाना राष्ट्रगान गाया जाना चाहिए और तिरंगा झंडा फहराया जाना चाहिए. हालाँकि उन्होंने इस सम्बन्ध में कोई आदेश जारी नही किया है. उनका कहना है की यह मात्र एक सुझाव है जिस पर किसी को कोई आपत्ति नही होनी चाहिए.

मध्य प्रदेश के शिक्षा मंत्री विजय शाह ने शनिवार को एक कार्यक्रम में बोलते हुए कहा की जैसे स्कूलों में रोजाना तिरंगा फहराया जाता है , मेरी गुजारिश है की सारे मदरसों में रोज तिरंगा फहराया जाना चाहिए और राष्ट्रगान भी गाया जाना चाहिए. मैं समझता हूँ की इस पर किसी कोई कोई आपत्ति नही होनी चाहिए और है भी नही. विजय शाह इससे पहले तब सुर्खियों में आये थे जब उन्होंने स्कूलों में छात्रों को हाजिरी के समय जय हिन्द बोलने का आदेश जारी किया था.

Loading...