सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर बाबरी मस्जिद के स्थान पर अयोध्या के धन्नीपुर गांव में पांच एकड़ जमीन पर बनने वाली मस्जिद का निर्माण नवंबर से शुरू होगा। उत्तर प्रदेश सुन्नी वक्फ बोर्ड मस्जिद के साथ ही  200 बेड का अत्याधुनिक अस्पताल बनवाएगा।

इस अस्पताल में हृदयरोग, गुर्दारोग, बच्चों व महिलाओं के कुपोषण व अन्य बीमारियों के इलाज की व्यवस्था होगी। अस्पताल में डायलिसिस मशीन भी लगेगी। ऑपरेशन थियेटर भी बनेगा। अस्पताल में सभी वर्ग के लोगों को सस्ता और सुलभ इलाज मिल सकेगा।

इंडो-इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन (IICF) ने बताया कि अस्पताल निर्माण का काम दो साल पूरा होने की उम्मीद है। अतथर हुसैन ने कहा कि हमने प्रोफेसर एमएम अख्तर से जल्द से जल्द इसका डिजाइन भेजने के लिए कहा है। हम चाहते हैं कि अस्पताल का निर्माण थोड़ा जल्द हो जाए। अस्पताल निर्माण के संबंध में एक समय सीमा है कि इसका निर्माण दो साल के भीतर हो जाएगा।

उन्होने कहा, हम सलाहकारों के साथ संपर्क में हैं क्योंकि हमें हॉस्पिटल निर्माण के लिए कई तरह की मंजूरी की जरुरत होगी और इसमें समय भी लगेगा। उन्होंने आगे कहा कि हमें मस्जिद के बारे में तकनीकी बातों का पता लगाने की भी जरुरत होगी, जिसका निर्माण कार्य प्रोफेसर अख्तर से डिजाइन मिलने के बाद शुरू किया जा सकता है।

IICF को उम्मीद है कि प्रोफेसर अख्तर आगे सात से दस दिनों में कॉम्प्लेक्श का डिजाइन भेज देंगे। उन्होंने कहा कि हम पहले कागजी कार्रवाई और अस्पताल निर्माण के लिए अन्य औपचारिकताओं को पूरा करने पर ध्यान केंद्रित करेंगे।

Loading...
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano
विज्ञापन