Thursday, June 17, 2021

 

 

 

इलाहाबाद विवि की कुलपति की नींद में ना पड़े खलल, मस्जिद ने की लाउडस्पीकर की आवाज कम

- Advertisement -
- Advertisement -

इलाहाबाद विश्वविद्यालय (Allahabad University) की कुलपति प्रो. संगीता श्रीवास्तव के अज़ान से नींद में खलल होने पर स्थानीय डीएम को की गई शिकायत के बाद स्थानीय मस्जिद प्रशासन ने लाउडस्पीकर की आवाज कम कर दी।

लाल मस्जिद के कार्यवाहक कलीम-उर-रहमान ने हिंदुस्तान टाइम्स को बताया कि मस्जिद समिति ने पुलिस द्वारा शिकायत के बारे में सूचित करने के बाद तत्काल कदम उठाए। रहमान ने कहा, “[ध्वनि] प्रणाली की मात्रा, जो पहले से ही [इलाहाबाद हाई] कोर्ट द्वारा निर्धारित मानदंड से कम थी, को आधा घटा दिया गया है।”

कार्यवाहक ने कहा कि एक लाउडस्पीकर की दिशा भी बदल दी गई ताकि आवाज श्रीवास्तव के घर की तरह न पहुंचे। हालांकि, रहमान ने कहा कि श्रीवास्तव द्वारा मस्जिद के अधिकारियों से संपर्क कर मामला सुलझाया जा सकता था।

कार्यवाहक ने News18 को बताया कि मस्जिद समिति श्रीवास्तव से जल्द ही मामले के बारे में बात करेगी और उन्हें किसी भी परिस्थिति में कठिनाइयों का सामना नहीं करना पड़ेगा।  श्रीवास्तव ने मस्जिद द्वारा लाउडस्पीकर के इस्तेमाल की शिकायत करने के लिए तीन मार्च को प्रयागराज के जिला मजिस्ट्रेट को एक पत्र लिखा था।

उन्होंने शिकायत में कहा था कि अलसुबह मस्जिद के लाउडस्पीकर से गूंजने वाली अजान की आवाज उनकी दिनचर्या में खलल डाल रही है। इससे उनकी नींद प्रभावित होती है जिससे कि दिनभर उनके सिर में दर्द बना रहता है और कामकाज प्रभावित होता है।

कुलपति ने जिलाधिकारी को भेजे गए पत्र में कहा है कि रोज सुबह लगभग साढ़े पांच बजे उनके आवास के समीपवर्ती मस्जिद से लाउडस्पीकर पर होने वाली अजान से उनकी नींद इस तरह बाधित हो जाती है कि उसके बाद तमाम कोशिश के बाद भी वह सो नहीं पातीं। जिसकी वजह से उन्हें दिनभर सिरदर्द बना रहता है और कामकाज भी प्रभावित होता है।

इस पर ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य खालिद रशीद फिरंगी महली ने श्रीवास्तव के पत्र की आलोचना करते हुए कहा कि उन्हें इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि भारत में लोग एक दूसरे के धर्म का सम्मान करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles