Saturday, July 31, 2021

 

 

 

दुनिया को सता रहा भारत-पाक जंग का डर, रिपोर्ट में खुलासा – मचेगी इतनी तबाही….

- Advertisement -
- Advertisement -

वॉशिंगटन. भारत और पाकिस्तान के बीच लगातार तनाव के चलते दुनिया भर को दोनों देशों के बीच न्यूक्लियर वार का डर सता रहा है। अमेरिका में एक हालिया स्टडी में दावा किया गया है कि अगर भारत और पाकिस्तान के बीच परमाणु जंग हुई तो इसके बेहद खतरनाक नतीजे होंगे।

इस रिपोर्ट में कहा गया कि अगर भारत और पाकिस्तान के बीच एटमी जंग हुई तो इसमें 12.5 करोड़ लोगों के मारे जाने की आशंका है। साथ ही इससे दुनियाभर में भुखमरी भी आएगी।  अमेरिका की रटगर्स यूनिवर्सिटी (न्यू ब्रंसविक) के अध्ययनकर्ता एलन रोबक के मुताबिक, ‘‘अगर परमाणु युद्ध हुआ तो यह किसी खास स्थान पर ही नहीं लड़ा जाएगा। परमाणु बम दुनिया में कहीं भी गिराया जा सकता है।’’

यह शोध जर्नल ‘साइंस एडवांसेस’ में प्रकाशित हुआ है। इसके मुताबिक, 2025 में भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध हो सकता है। बता दें कि कश्मीर को लेकर दोनों पड़ोसियों में कई बार युद्ध हो चुका है।

स्टडी में शामिल शोधकर्ताओं के मुताबिक परमाणु हथियारों से 1.6 से 3.6 करोड़ टन का राख बनेगा जो धुएं में बेहद छोटे-छोटे कणों के रूप में होगा। यह राख ऊपरी वातावरण तक पहुंच जाएगा और एक हफ्ते के भीतर ही पूरी दुनिया में फैल जाएगा। यह राख सौर विकिरण को सोख लेगी जिससे हवा गर्म हो जाएगी और धुआं तेजी से ऊपर उठेगा।  यह धुआं सौर रेडिएशन को भी अवशोषित करेगा, जिससे हवा का तापमान बढ़ेगा।

स्टडी के मुताबिक, इस प्रक्रिया में धरती पर पहुंचने वाली सूर्य की रोशनी की मात्रा में 20 से 35 प्रतिशत की कमी आएगी, जिससे धरती की सतह का तापमान 2 से 5 डिग्री सेल्सियस तक घट जाएगा। इतना ही नहीं, दुनियाभर में होने वाली बारिश में भी 15 से 30 प्रतिशत की कमी देखने को मिलेगी जिसका बहुत गहरा असर पड़ेगा।

रिसर्चरों के मुताबिक, वैसी स्थिति में वैश्विक स्तर पर साग-सब्जियों का विकास 15 से 30 प्रतिशत तक रुक जाएगा और महासागरों की प्रॉडक्टिविटी भी 5 से 15 प्रतिशत तक कम हो जाएगी। स्टडी में कहा गया है कि इन असरों से मुक्ति मिलने में 10 से ज्यादा साल का वक्त लगेगा, तबतक जबतक ऊपरी वातावरण में धुआं मौजूद रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles