मुंबई | 2014 में हुए मोहसिन शेख हत्याकांड में बॉम्बे हाईकोर्ट ने 3 आरोपियों को जमानत दे दी. जमानत देते समय बॉम्बे हाई कोर्ट की जज जस्टिस मृदुला भटकर ने बेहद ही चौकाने वाली टिप्पणी की. उन्होंने आरोपियों को इसीलिए जमानत दी क्योकि मरने वाला मोहसिन शेख, मुस्लिम था. जस्टिस भटकर ने कहा की मोहसिन की एक ही गलती थी की वो दुसरे धर्म से था.

बॉम्बे हाई कोर्ट ने मोहसिन हत्याकांड में सुनवाई करते हुए 21 आरोपियों में से तीन को जमानत दे दी. मामले की सुनवाई करते हुए जस्टिस भटकर ने कहा,’ मोहसिन की एक ही गलती थी की वो दुसरे धर्म से था. मैं मानती हूँ की यही बात आरोपियों के पक्ष में जाती है क्योकि आरोपियों का कोई अपराधिक रिकॉर्ड नही है और ऐसा लगता है की उन्हें धर्म के नाम पर उकसाया गया.

जस्टिस भटकर ने आगे कहा की आरोपियों ने बहकावे में आकर मोहसिन की हत्या कर दी. उन्होंने कहा की साल 2014 में मोहसिन पर हमला करने से पहले धनंजय देसाई ने आरोपियों को उकसाया था. धनंजय ने सभी आरोपियों को धर्म के नाम पर उकसाया और मोहसिन पर हमला करा दिया. मालुम हो की इस हत्याकांड में अभी तक 14 आरोपियों को जमानत मिल चुकी है.

धनंजय देसाई इस हत्याकांड में मुख्य आरोपी है. घटना के समय धनंजय अपने साथियों को धर्म के आधार पर उकसा रहा था. उसके भाषण के कई अंश इस बात को साबित भी करते है की वो अपने साथियों को उकसा रहा था. इसी आधार पर धनंजय की जमानत याचिका हाई कोर्ट पिछले साल खारिज कर चुका है. हालांकि उसके वकील ने दोबारा धनंजय को जमानत देने की याचिका कोर्ट में डाली हुई है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें