j1bumv0g bhagalpur 625x300 28 september 18

एससी-एसटी एक्ट और जातिगत आरक्षण के विरोध में बिहार के गया में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री अश्विनी चौबे को आशा कार्यकर्ताओं ने बंधक बना लिया। इतना ही नहीं गुरुवार को भागलपुर में मंत्री को काले झंडे दिखाए और मुर्दाबाद के नारे लगाए।

स्वास्थ्य मंत्री जैसे ही नवगछिया स्टेशन पहुंचे, परिसर में पहले से मौजूद सवर्ण सेना के समर्थकों ने उनकी गाड़ी को रोक दिया। गाड़ी के आगे खड़े होकर समर्थकों ने केंद्र व राज्य सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी की। चौबे स्वच्छता अभियान के तहत शुक्रवार को गया के जयप्रकाश नारायण अस्पताल में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आए थे।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सवर्ण सेना के लोगों ने स्वास्थ्य मंत्री से एससी-एसटी एक्ट व जातिगत आरक्षण को समाप्त कर गरीब सवर्णो को आरक्षण देने की मांग की। सरकार को सवर्णो के प्रति सजग रहने को कहा, अन्यथा लोक सभा चुनाव में इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

इस दौरान कुछ कार्यकर्ताओं ने उनके साथ धक्का-मुक्की भी की। हालांकि नवगछिया के भाजपा नेता मनोज कुमार पांडेय ने कहा कि श्री चौबे को काला गमछा दिखाया गया है। विरोध में नारेबाजी हुई, पर उनके साथ धक्का मुक्की की बात गलत है। पांडेय ने बताया कि मंत्री ने इस मामले में किसी भी तरह की पुलिसिया कार्रवाई नहीं करने का निर्देश पुलिस को दिया है।

वहीं नवगछिया की एसपी निधि रानी ने कहा कि इस प्रदर्शन में कौन लोग शामिल थे, उन्हें चिह्नित कर कार्रवाई की जायेगी। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

Loading...