देश के केंद्रीय बैंक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) के गवर्नर की सैलरी में तीन गुना बढ़ोतरी की गई हैं. अब आरबीआई गवर्नर का मूल वेतन 2.5 लाख रुपये है, वहीं साथ में डिप्टी गवर्नर का वेतन भी 2.25 लाख प्रति महीने किया गया.

गवर्नर और डेप्युटी गवर्नर की बेसिक सैलरी में यह बदलाव 1 जनवरी 2016 से किया गया हैं. अब तक गवर्नर का मूल वेतन 90,000 रुपये तथा डिप्टी गवर्नर का 80,000 रुपये था. इसके पहले सभी भत्ते जोड़ने के बाद आरबीआई गवर्नर की सैलरी 2 लाख रुपये के आसपास होती थी.

सूचना के अधिकारी (आरटीआई) के तहत रिपोर्ट में बताया गया कि आरबीआई गर्वनर का वेतन अब कैबिनेट सचिव के वेतन के बराबर होगा, जबकि डिप्टी गर्वनर का मासिक वेतन सचिव स्तर के अधिकारी के वेतन के बराबर होगा. केंद्र ने आरबीआई के चारों डेप्युटी गवर्नर की बेसिक सैलरी भी 80 हजार रुपये महीने से बढ़ाकर 2.25 लाख रुपये कर दी है.  माना जा रहा है सैलरी रिवीजन के बाद उनकी ग्रॉस सैलरी तकरीबन 3 लाख 70 हजार रुपये हो जाएगी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उर्जित पटेल ने नए 2016 सितंबर में आरबीआई गवर्नर के रूप में पदभार संभाला था. 3 सितंबर को पूर्व आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन इस पद से रिटायर हुए थे. रघुराम राजन की बेसिक सैलरी 90 हजार रुपये ही थी. उनके जाने के 6 महीने बाद आरबीआई गवर्नर की सैलरी में बढोतरी की गई.

Loading...