मोदी सरकार मुस्लिम लड़कियों को ग्रेजुएशन पूरा करने पर उनके निकाह के मौके पर 51,000 रु का तोहफा देगी. ये तोहफा मोदी सरकार उनकी शादी के शगुन को तौर पर देगी.

मुस्लिम लड़कियों को उच्च शिक्षा में प्रोत्साहित करने के लिए केंद्र सरकार के अधीन ‘मौलाना आजाद एजुकेशन फाउंडेशन’ (एमएईएफ) ने मुस्लिम लड़कियों को 51,000 रूपये की राशि देने का फैसला किया है ताकि मुस्लिम लड़कियां विश्वविद्यालय या कॉलेज स्तर की पढ़ाई पूरी कर सकें.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी की अध्यक्षता में हुई एमएईएफ की बैठक में इसी के साथ 9वी और 10वीं कक्षा में पढ़ाई करने वाली मुस्लिम बच्चियों को 10 हजार रुपये की राशि प्रदान करने का फैसला लिया है. हालाँकि अभी तक11वीं और 12वीं कक्षा में पढ़ाई करने वाली मुस्लिम लड़कियों को 12 हजार रुपये की छात्रवृत्ति मिल रही थी.

एमएईएफ के कोषाध्यक्ष शाकिर हुसैन अंसारी ने बताया, ”मुस्लिम समाज के एक बड़े हिस्से में आज भी मुस्लिम बच्चियों को उच्च शिक्षा नहीं मिल पाती है. इसकी एक बड़ी वजह आर्थिक तंगी है. हमारा मकसद बच्चियों और खासकर अभिभावकों को प्रोत्साहित करना है कि लड़कियां कम से कम स्नातक स्तर की पढ़ाई पूरी करें. ऐसे में ‘शादी शगुन’ के तौर पर 51,000 रुपये की राशि का फैसला किया गया है.’

Loading...