कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी के घर पर तोड़फोड़, कर्मचारियों के साथ की गई मारपीट

लोकसभा में दिल्ली हिंसा के मामले में भाजपा को लगातार घेरने वाले कांग्रेस नेता अधीर रंजन के ऑफिस में मंगलवार की शाम करीब साढ़े पांच बजे अज्ञात लोगो ने तोड़फोड़ की। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, इस दौरान अज्ञात हमलावरों ने उनके ऑफिस में काम कर रहे उनके कर्मचारियों के साथ हाथापाई भी की।

यह हमला करीब साढ़े पांच बजे किया गया।  सांसद के स्टॉफ ने कहा है कि हमलावर घर में घुसे और तोड़फोड़ की। जब उन्होंने इसका विरोध किया तो हमलावरों ने उनकी पिटाई की। मामले के संबंध में पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई गई है। घटना के वक्त चौधरी घर पर नहीं थे। उन्होंने मीडिया से कहा, ‘‘घटना के वक्त बेटी घर पर ही थी। यह पहली बार हुआ है। स्टाफ के साथ हमलावरों ने मारपीट की है। पता नहीं वह कौन लोग थे। कार्यालय से कुछ फाइलें भी ले गए हैं। नहीं मालूम की यहां सीसीटीवी कैमरे हैं या नहीं। पुलिस अपना काम कर रही है।’’

इस मामले में डीसीपी नई दिल्ली ने बताया कि अधीर रंजन चौधरी के ऑफिस (घर से लगे हुए) में शाम साढ़े पांच बजे 4 लोग आए और वे सांसद के बारे में पूछ रहे थे। वहां मौजूद स्टाफ ने उनसे उनका कॉन्टैक्ट नंबर मांगा, जिससे वे सांसद के घर लौटने पर उनतक संदेश पहुंचा सकें। वे लोग फोन पर बात कराने की जिद पर अड़ गए। हालांकि स्टाफ ने मना कर दिया। इसके बाद उन लोगों ने ऑफिस स्टाफ के साथ बदसलूकी की और ऑफिस में तोड़फोड़ की। अधीर रंजन चौधरी के प्राइवेट सेक्रटरी प्रदीप्तो राजपंडित की तरफ से शिकायत मिली है। मामले की जांच की जा रही है।

पश्चिम बंगाल की बहरामपुर सीट से सांसद अधीर रंजन चौधरी ने मंगलवार को ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सोशल मीडिया छोड़ने की खबरों के बीच उन पर निशाना साधा। चौधरी ने कहा कि अगर प्रधानमंत्री दिल्ली में हुए दंगों को लेकर ऐसा कर रहे हैं, तो अच्छा होगा कि वे इसकी जिम्मेदारी लेकर अपना पद ही छोड़ दें।

अधीर रंजन ने आरोप लगाा था कि पीएम असली मुद्दों से ध्यान भटकाने की कोशिश कर रहे हैं। इससे पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी के सोशल मीडिया छोड़ने पर कहा था कि आपको सोशल मीडिया नहीं, नफरत छोड़नी चाहिए।

विज्ञापन