so

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 14वीं सदी पुरानी खिड़की मस्जिद से मध्यकालीन सिक्कों का बेशकीमती खजाना मिला है।भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग (ASI) विभाग को मध्यकालीन भारत के 254 सिक्के हाथ लगे।

जानकारी के अनुसार, सिक्के सूरी साम्राज्य के समय के बताए जा रहे है। ये सभी सिक्के मस्जिद में घुसने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली सीढ़ियों के पास मिले। सिक्के एक मिट्टी के घड़े में थे। ASI सिक्कों पर छपे लेखों का अर्थ जानने की कोशिश मे जुटा है।

एएसआई अधिकारी ने कहा, ‘सिक्कों पर दोनों तरफ अभिलेख हैं, संभवतः अरबी या फारसी भाषा में हैं। उनका क्या अर्थ है, यह अभी मालूम नहीं है। प्राचीन काल में सभी सिक्के एक ही आकार और वजन के नहीं हुआ करते थे, इन सिक्कों के आकार और वजन भी अलग-अलग हैं। उनका मूल्य आंका जाना बाकी है।’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

khidki

बता दें कि खिड़की मस्जिद इससे पहले महाराणा प्रताप का किला बताने को लेकर चर्चा में आई थी। कुछ लोगों ने मस्जिद के बाहर लगे बोर्ड से ‘मस्जिद’ शब्द हटा दिया था। 1915 के भारत के राजपत्र के अनुसार, एएसआई ने “खिड़की मस्जिद” के रूप में अधिसूचित किया गया है।

इस मस्जिद का निर्माण मलिक मकबूल ने किया था, जो कि फिरोज शाह तुगलक के शासन में दिल्ली सल्तनत के प्रधानमंत्री थे।

Loading...