Monday, June 14, 2021

 

 

 

शिर्क और बिदअत के फतवों की उड़ी धज्जियां, तारिक जमील ने सिलसिला ए चिश्तीयां की बेअत ली

- Advertisement -
- Advertisement -

शिर्क और बिदअत के फतवों की धज्जियां उस वक्त उड़ गई। जब तबलीगी यानि देवबंद के मशहूर आलिम मौलाना तारिक जमील ने सरजमीन अजमेर शरीफ में सिलसिला ए चिश्तीयां की बेअत ली।

सोशल मीडिया पर मौलाना तारिक जमील की सिलसिला ए चिश्तीयां में बेअत लेने का एक विडियो वायरल हो रहा है। उन्होने दरगाह हजरत ख्वाजा मोइनउद्दीन चिश्ती (रह) के गद्दीनशीन सय्यद सरवर चिश्ती के हाथों पर बेअत ली। बता दें कि देवबंद और तबलीगी जमात का सूफिवाद को लेकर हमेशा विरोध रहा है।

हालांकि इस दौरान मौलाना तारिक जमील ने कहा कि आज का दिन मेरी जिंदगी का सबसे खुशकिस्मत दिन है। अल्लाह ताला ने बड़ी निस्बत से नवाजा है। सुल्तानुल हिन्द किसी शेख को ये लकब नहीं दिया गया है। सिर्फ ख्वाजा अजमेरी को ये लकब मिला। आज उनकी निस्बत से मैं इनके पाँव की खाक के बराबर भी नहीं हूँ। मैं एहसानमंद हूँ। मुझे इस निस्बत से नवाजा। मेरी नसले आपके लिए दुआगो है।

वहीं सय्यद सरवर चिश्ती ने मौलाना तारिक जमील से कहा कि आपका ये हक बनता था। आप मौला-मौला करते है। मुझे पता है इस नाम को लेने में कितनी दुश्वारिया है। इस नाम को लेने में बड़ी परेशनियाँ होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles