बाबरी मस्जिद को लेकर शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे सादिक का बड़ा बयान आया है. शिया धर्मगुरु ने बाबरी मस्जिद की जमीन को राम मंदिर के लिए देने की बात कही है.

रविवार को उन्होंने कहा कि यदि बाबरी केस में  सुप्रीम कोर्ट का फैसला मुस्लिमों के हक़ में आता है तो उन्हें बाबरी मस्जिद की जमीन राम मंदिर के लिए खुशी-खुशी हिंदुओं को दे देनी चाहिए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि अगर फैसला मुस्लिमों के खिलाफ आता है, तो उन्हें शांतिपूर्वक से स्वीकार करना चाहिए. याद रहे शिया वक्फ बोर्ड पहले ही इस बाबत सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल कर चूका है.

मुंबई में वल्र्ड पीस एंड हारमनी कॉन्क्लेव के आयोजन के दौरान उन्होंने ये बात कही. इस बयान के बाद केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि भगवान राम न हिंदू के हैं और न मुस्लिम के, वह भारत की जान हैं. मौलाना साहब ने दिल जीत लिया.

आपको बता दें कि शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने इस सबंध में ऐतिहासिक दस्तावेजों के अनुवाद के लिए सभी पक्षों को 3 महीने का समय दिया है. इस मामले की अगली सुनवाई पांच दिसंबर को होगी.

Loading...