लखनऊ: शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जव्वाद ने प्रधामंत्री नरेन्द मोदी को पत्र लिखकर कहा कि चीन के खिलाफ देश का शिया मुसलमान आपके पूरी तरह से साथ है। उन्होने कहा कि चीन के साथ युद्ध में देश के शिया मुसलमान एकजुट होकर मुकाबला करेंगे और देश की रक्षा के लिए अपनी कुर्बानी देंगे।

प्रधानमंत्री को लिखे गए पत्र में उन्होने कहा कि भारत-चीन में तनाव की स्थिति है, विशेषकर गलवान घाटी में चीनी सैनिकों ने भारतीय सैनिकों के साथ अमानवीय बर्ताव किया, जिसका जवाब हमारे वीर सैनिकों ने बहादुरी से दिया। उन्होंने आगे लिखा कि, इसी प्रकार लेह लद्दाख सरहद पर भी तनाव है। आपके नेतृत्व में भारत की सेना किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार है।

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आश्वासन दिया कि लेह लद्दाख के शिया मुसलमान ही नहीं पूरे भारत के शिया मुसलमान हमेशा की तरह भारत की सीमाओं की रक्षा के लिए आपके हाथ हैं और भारतीय सेना के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं।

उन्होंने कहा कि कारगिल युद्ध के अवसर पर भी शिया मुसलमानों ने भारत की सेना का पूरा साथ दिया था। भारत की सीमाओं की रक्षा के लिए आपके लिए गए फैसले में हमारी क़ौम देश के साथ है। वह अपने प्राणों की आहुति देने से पीछे नहीं हटेगी। अपने पत्र में उन्होंने पैगंबर हजरत मोहम्मद की हदीस का वर्णन भी किया जिसमें कहा गया है कि “देश से प्रेम ईमान की निशानी है”।

बता दें कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister Rajnath Singh) ने मंगलवार को लोकसभा में चीन और भारत के बीच जारी सीमा विवाद को लेकर जानकारी दी। जिसमे उन्होने बताया कि भारत और चीन सीमा मुद्दा अभी हल नहीं हुआ है। चीन ने लद्दाख में भारत की लगभग 38,000 स्क्वायर किलोमीटर भूमि का अनधिकृत कब्जा किया हुआ है।

Loading...
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano
विज्ञापन