स्‍वतंत्रता सैनानी और भारत के पहले शिक्षामंत्री मौलाना अबुल कलाम आजाद के पोते शिक्षाविद् फिरोज बख्‍त अहमद ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा करते हुए कहा कि प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी को अब मुसलमान भी पसंद करने लगे हैं.

उन्होंने कहा कि ”हो सकता है कि ज्‍यादातर मुसलमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पसंद नहीं करते लेकिन यह नहीं भूलना चाहिए कि कई अब उन्‍हें पसंद करने लगे हैं.” उन्होंने कहा, उनका सोचने का और काम करने का जो तरीका हैं उसे मुसलमान भी पसंद करने लगे हैं.

अंग्रेजी अखबार मेल टुडे से बातचीत में उन्होंने प्रधानमन्त्री से अपनी मुलाक़ात के बारें में बताया कि ”पीएम मोदी ने कहा कि वे हिंदू और मुसलमानों को अपने दो बच्‍चों की तरह मानते हैं. दोनों के साथ वे समानता के साथ व्‍यवहार करेंगे। उन्‍होंने कहाकि वे चाहते हैं कि मुस्लिमों के एक हाथ में कंप्‍यूटर और दूसरे में कुरान हो. लेकिन उन्‍होंने कहा कि समाज के उत्‍थान के लिए वे तुष्‍टीकरण नहीं अपनाएंगे. वे सबका साथ सबका विकास के नारे के जरिए यह काम करेंगे.”

इसके साथ ही अहमद ने प्रधानमंत्री के हज कोटा बढ़ाने और गुजरात में पंतग बनाने वालों को दी जाने वाली आर्थिक मदद के कदम की तारीफ की. केंद्रीय अल्‍पसंख्‍यक मंत्रालय की तारीफ में अहमद ने कहा कि पहले यह मंत्रालय ऑक्‍सीजन पर चल रहा था लेकिन अब पीटी ऊषा की तरह दौड़ रहा है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें