अगरतला। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते मास्क की कमी का हवाला देते हुए शुक्रवार को लोगों से इसके विकल्प के रूप में ‘गमछा’ बांधने को कहा। उन्होंने जनता को अंगोछा जैसी नजर आने वाली राज्य की पारंपरिक तौलिया से मास्क बनाने का तरीका बताया है।

मुख्यमंत्री ने वीडियो संदेश में कहा, ‘‘मॉस्क अस्पतालों में काम करने वाले या आइसोलेशन केंद्र में रह रहे लोगों के लिए अनिवार्य है। यह भय पैदा किया जा रहा है जो लोग मास्क का इस्तेमाल नहीं करेंगे वे कोरोना वायरस से संक्रमित हो सकते हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘अस्पतालों में काम कर रहे लोगों के लिए पर्याप्त संख्या में मास्क हैं, लेकिन साथ ही सरकार के लिए यह संभव नहीं है कि वह राज्य के सभी 40 लाख लोगों को मास्क बांटे। इसलिए मेरा आप सभी से अनुरोध है कि एहतियाती उपाय के तहत मास्क की जगह ‘जल गमछा’ का इस्तेमाल करें।’’

बता दें कि कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या देश में 800 के पार पहुंच गई है। अब तक इस बीमारी से 17 लोगों की मौ*त हो चुकी है। हालांकि त्रिपुरा में अभी तक कोरोना का कोई मामला सामने नहीं आया है, लेकिन नॉर्थ ईस्ट के ही राज्यों मणिपुर और मिजोरम में एक-एक मामले सामने आए हैं। इसे देखते हुए त्रिपुरा सरकार भी सतर्क है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन