केरल के कोझिकोड जिले के मुस्लिमों ने अपने पड़ोसी हिन्दू परिवार की परेशानी के चलते जश्न ए ईद मिलादुन्नबी के कार्यक्रम को टाल दिया। अब वह आज यानी रविवार को आज यानी रविवार को मनाएंगे मनाएंगे।

दरअसल, कोझिकोड के चंगारोथ पंचायत के तहत आने वाले एडिवेटी गांव में एक हिंदू परिवार में बेटी की शादी थी। यह परिवार जामा मस्जिद इंदिरा नाम्बियार के घर के ठीक सामने रहता है।

जानकारी के अनुसार, पिछले रविवार को ही उनकी बेटी प्रत्युषा की शादी हुई। स्थानीय महालु कमेटी के सचिव एनसी अब्दुरहीमन ने बताया, ‘हिंदू परिवार ने पहले से ही शादी की तारीख 10 नवंबर तय कर रखी थी। उन्हें इस बात का एहसास नहीं था कि उस दिन मिलाद-उन-नबी है।

उन्होने कहा, शादी की रस्में पूरे दिन चलती रहती हैं और हमें भी (मिलाद-उन-नबी पर) कई तरह की सांस्कृतिक कार्यक्रम करने पड़ते हैं। शादी के आयोजन में बाधा न आए, इसलिए हमने मस्जिद के कार्यक्रमों को टालने का फैसला किया।’

वहीं, इंदिरा नाम्बियार ने कहा कि उन्होंने कभी कल्पना नहीं की थी कि उनकी बेटी की शादी के लिए मस्जिद अपने कार्यक्रम टाल देगा। उन्होंने कहा, ‘महालु कमेटी ने मुझे बताया कि वे हमारी मदद के लिए अपना कार्यक्रम 17 नवंबर के लिए टाल रहे हैं। हमने ऐसी कोई दरख्वास्त नहीं दी थी। मस्जिद के कई लोग शादी वाले दिन मेरी बेटी को आशीर्वाद देने आए।’

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन