नई दिल्ली | एमसीडी इलेक्शन में करारी हाल मिलने के बाद आम आदमी पार्टी विरोधियो के निशाने पर आ गयी है. यही नही इस हार ने उन लोगो को भी बोलने का मौका दे दिया है जो कभी आम आदमी पार्टी या उनके नेताओ के करीबी रहे है. इनमे सबसे प्रमुख अन्ना हजारे है जिन्होंने केजरीवाल को सत्ता का लालची बताते हुए कहा की अगर वो मेरी कही बात पर चलते तो उन्हें ऐसी हार का सामना करना पड़ता.

अन्ना हजारे के इस बयान के बाद कुछ लोगो ने उन्हें बीजेपी एजेंट बताते हुए ट्वीट करना शुरू कर दिया. ट्वीटर पर एक यूजर ने लिखा की पुरे देश को लोकपाल का ख्वाब दिखाने के बाद आज वो चुप है. मुझे इस बात का पक्का अहसास है की वो बीजेपी के एजेंट है. चौकाने वाली बात यह है की इस ट्वीट को दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने रीट्वीट कर दिया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मनीष के अन्ना को बीजेपी एजेंट बताते ही सोशल मीडिया पर यह खबर आग की तरह फ़ैल गयी. लेकिन कुछ ही देर बाद मनीष ने सफाई देते हुए कहा की मेरा अकाउंट हैक हो गया है और कोई मेरे अकाउंट से अन्ना के खिलाफ ट्वीट को रीट्वीट कर रहा है. यही नही मैं इन ट्वीट को डिलीट करने का प्रयास कर रहा हूँ लेकीन ये डिलीट भी नही हो रहे है.

मनीष ने आगे लिखा की कृप्या इन ट्वीट पर विश्वास न करे, मेरे मन में अन्ना जी के लिए बहुत सम्मान है. मैं कभी भी उनके खिलाफ इस तरह के शब्दों का इस्तेमाल नही कर सकता. बताते चले की अभी हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने मोदी सरकार को फटकार लगाते हुए पुछा था की अभी तक लोकपाल की नियुक्ति क्यों नही हुई है. सुप्रीम कोर्ट के फटकार के बाद भी अन्ना हजारे ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नही दी. इसलिए एक यूजर ने लिखा की वो फ्रॉड है और लोकपाल पर सुप्रीम कोर्ट की प्रतिक्रीया के बाद भी चुप है.