जामिया में CAA के खिलाफ मार्च पर ‘ये लो आजादी’ बोलकर युवक ने गोलीबारी

नई दिल्ली. नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ गुरुवार को जामिया यूनिवर्सिटी से राजघाट तक मार्च के दौरान एक व्यक्ति ने फायरिंग की। युवक ने पुलिस के सामने कई देर तक हवा में बंदूक लहराई और बाद में गोली चला दी।

जानकारी के अनुसार, उसने गोली चलाते वक्त ‘ये लो आजादी’ के नारे भी लगाए। गोली लगने से जामिया में मॉस कम्युनिकेशन की पढ़ाई कर रहा छात्र शादाब फारूक जख्मी हो गया। उसे एम्स ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है।

घटनास्थल पर मौजूद लोगों का कहना है कि आदमी ने खुलेआम हथियार लगाया लेकिन पुलिस ने कुछ नहीं किया। प्रदर्शनकारियों की ओर शख्स आगे बढ़ रहा था। इस दौरान पुलिस महज चुप्पी साधे हुए देखते रही।

यूनिवर्सिटी की छात्रा आमना आसिफ ने कहा- ”हम मार्च निकालते हुए आगे बढ़ रहे थे, लेकिन हॉली फैमिली हॉस्पिटल के पास पुलिस ने रास्ते में बेरिकेडिंग कर रखी थी। अचानक से एक युवक हथियार लहराता हुआ आया और गोलियां चलाने लगा। एक गोली मेरे दोस्त शादाब फारूक के बाएं हाथ में लगी। वह मॉस कम्युनिकेशन की पढ़ाई कर रहा है।”

बता दें कि केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने 27 जनवरी को रिठाला की एक रैली में विवादास्पद नारे लगवाते कहा था- देश के गद्दारों को, लोगों ने कहा- गोली मारो…को। यह वीडियो वायरल हुआ था। जिसके बाद गुरुवार को चुनाव आयोग ने अनुराग के स्टार प्रचारक के रूप में चुनाव प्रचार करने पर 72 घंटे का प्रतिबंध लगा दिया।

विज्ञापन