नई दिल्ली | साल 2008 में मालेगांव में हुए बम विस्फोट के एक आरोपी ने कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह को खत लिखकर अपना दर्द बयाँ किया है. पिछले 9 साल से जेल में बंद इस आरोपी ने एक कविता के जरिये दिग्विजय सिंह पर आरोप लगाया है की उनकी वजह से मैं आज खाक में मिला हूँ. हालाँकि दिग्विजय सिंह की तरफ से अब तक इस खत का कोई जवाब नही दिया गया है.

दरअसल 2008 में मालेगांव में हुए बम विस्फोट में महाराष्ट्र एटीएस ने मेजर रमेश उपाध्याय को गिरफ्तार किया था. उनके अलावा साध्वी प्रज्ञा और कर्नल श्रीकांत पुरोहित को भी एटीएस ने गिरफ्तार किया था. इनमे से साध्वी प्रज्ञा और कर्नल पुरोहित जमानत पर रिहा हो चुके है लेकिन मेजर उपाध्याय अभी भी जेल में बंद है. उन्होंने भी हाई कोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की हुई है. हालाँकि कई और आरोपी है जो जमानत के लिए हाई कोर्ट के चक्कर काट रहे है.

बरहाल मेजर उपाध्याय ने इन सबके लिए कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह को जिम्मेदार ठहराया है. इसलिए उन्होंने एक पत्र के जरिये दिग्विजय सिंह तक अपना दर्द पहुँचाने का फैसला किया. जेल से लिखे खत में मेजर उपाध्याय ने चार लाइने लिखी है. इस कविता के जरिये ही वो अपना पूरा दर्द बयाँ कर गए.

उन्होंने लिखा-:

हंसे होगे तुम रुलाकर मुझे

खुशी पाई होगी जलाकर मुझे

क्या जीते तुम हराकर मुझे

मिला क्या तुम्हें ख़ाक में मिलाकर मुझे

एक तरह से इस कविता के जरिये मेजर उपाध्याय दिग्विजय सिंह पर उनको ख़ाक में मिलाने का आरोप लगा रहे है. बताते चले की मालेगांव बम विस्फोट के बाद तत्कालीन यूपीए सरकार ने इसके लिए कुछ कट्टर हिन्दुत्वादी संगठनों को जिम्मेदार ठहराया था. उस समय एक नया शब्द ‘हिन्दू आतंकवाद’ ने पुरे देश में सियासी घमासान मचा दिया था. सरकार का आरोप था की कुछ हिन्दुत्वादी संगठन भारत को हिन्दू राष्ट्र बनाने के लिए इस तरह का काम कर रहे है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?