malegaon blast

malegaon blast

साल 2008 के मालेगांव ब्लास्ट मामले में कर्नल श्रीकांत पुरोहित और साध्वी प्रज्ञा ठाकुर पर से मकोका और यूएपीए हटा लिया गया है. हालांकि दोनों पर अब भी  IPC की धाराओं के तहत केस चलेगा.

दोनों के खिलाफ IPC की धारा 120B, 302, 307, 304, 326, 427, 153 A के तहत उनपर मुकदमा चलाया जाएगा. कोर्ट ने इन दोनों सहित चार आरोपियों से मकोका और यूएपीए की धारा 17,20 व 13 हटा दी है.

कोर्ट ने इसके अलावा श्याम साहू, प्रवीण टक्कलकी और रामचंद्र कालसांगरा को बरी कर दिया. इस मामले में अगली सुनवाई 15 जनवरी को होगी.

गौरतलब है कि 29 सितंबर 2008 को मालेगांव ब्लास्ट में 7 लोगों की मौत हुई थी. इसके अलावा 101लोग जख्मी हुए थे. ये ब्लास्ट एल एम एल फ्रीडम मोटरसाइकिल में फिट कर किया गया था.

ये मोटरसाइकिल साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के नाम पर रजिस्टर्ड थी. जिसके आधार पर एटीएस ने पहले साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को गिरफ्तार किया. उसके बाद स्वामी दयानंद पांडे, मेजर रमेश उपाध्याय और कर्नल प्रसाद श्रीकांत पुरोहित सहित कुल 11 को गिरफ्तार कर किया था.

इस मामले पर 20 नवंबर 2008 को मकोका लगा दिया गया और एटीएस ने 21 जनवरी 2009 को पहला आरोप पत्र दायर किया,  जिसमें 11 गिरफ्तार और 3 फरार आरोपी दिखाए गए. लेकिन उसके बाद इस केस की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी NIA को सौंप दी गई.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें