munni

देश की 23 भाषाओं के लेखक-लेखिकाओं को सोमवार को साहित्य अकादमी पुरस्कार-2017 से सम्मानित किया गया. इनमे मलयाली लेखक केपी रामानुन्नी भी शामिल है. उन्होंने पुरस्कार के रूप मिली राशि को हरियाणा के जुनैद खान  की मां को दे दिया.

ध्यान रहे जुनैद खान की बीते साल ईद से पहले दिल्ली से शोपिंग कर लौटने के दौरान ट्रेन में पीट-पीट कर हत्या कर दी गई थी. जुनैद 22 जून को ईद की खरीददारी कर अपने चार दोस्तों के साथ दिल्ली से बल्लभगढ़ लौट रहा था.

रामानुन्नी ने अपने पुरस्कार की एक लाख रुपये की राशि में से महज तीन रुपये अपने पास रखकर बाकी जुनैद की मां को दे दिए. आप को बता दें कि हरियाणा सरकार ने जुनैद के परिजनों को दस लाख मुआवजा देने की घोषणा की थी. जिसको अभी तक नहीं दिया गया है.

जुनैद के परिवार को जिला कलेक्टर की और से रेडक्रास से पांच लाख रुपये का मुआवजा मिला है. साथ ही जुनैद का परिवार इस पुरे मामले की सीबीआई जांच चाहता है.

रामानुन्नी ने कहा कि उन्हें जिस किताब (दाएवाथिंते पुस्तकम) के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया है, वह सांप्रदायिक सद्भाव पर आधारित है. उन्होंने कहा कि जुनैद को बिना किसी वजह के मार डाला गया था.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें








Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें