जुलाई में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के लिए विपक्ष महात्मा गांधी के पौत्र गोपाल कृष्ण गांधी को अपना उम्मीदवार बना सकता हैं. हालाँकि इस बारे में अभी विपक्ष की तरफ से कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है.

एशियन एज की खबर के मुताबिक, कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्षी पार्टियां उन्हें संयुक्त उम्मीदवार के तौर पर मैदान में उतार सकती हैं. 2004 से 2008 तक पश्चिम बंगाल के राज्यपाल रह चुके गोपाल कृष्ण गांधी को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के समर्थन मिलने की भी उम्मीद हैं.

दरअसल ममता 2012 में ही गोपाल गांधी का नाम उपराष्ट्रपति पद के प्रत्याशी के तौर पर प्रस्तावित कर चुकी हैं. इस सबंध में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी 15 मई के बाद सभी विपक्षी दलों की बैठक बुला सकती हैं.

इसके अलावा विपक्ष की ओर दो और नामों पर विचार चल रहा है. ये हैं- राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के मुखिया शरद पवार और जनता दल-यूनाइटेड (जद-यू) के नेता शरद यादव. वहीँ  भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए ने भी अभी उम्मीदवार की घोषणा नहीं की हैं.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें








Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें