नई दिल्ली | खादी ग्रामोधोग के वार्षिक कैलंडर में राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की जगह प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर लगने से सियासी घमासान शुरू हो गया है. विपक्षी दल जहाँ मोदी पर गाँधी की जगह लेने का आरोप लगा रहे है वही अब महात्मा गाँधी के प्रपोत्र ने भी इस मामले में अपनी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने मोदी से खादी ग्रामोधोग को खत्म करने की अपील करते हुए कहा की वक्त आ गया है की बापू अब KVIV को अलविदा कह दे.

खादी विलेज इंडस्ट्रीज कमीशन (KVIC) के वार्षिक कैलेंडर और डायरी में प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर छपने से राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के प्रपोत्र तुषार गांधी काफी खफा दिखे. उन्होंने मीडिया से बात करते हुए अपनी नाराजगी जाहिर की. उन्होंने कहा की खादी और KVIC दोनों ने बापू की विरासत को कमजोर किया है. इसलिए इसको अब बंद कर देना चाहिए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

तुषार गाँधी ने मोदी से अपील करते हुए कहा की मैं मोदी जी से आग्रह करता हूँ की उन्हें अब KVIC को निरस्त कर देना चाहिए. क्योकि खादी पहले गरीबो का वस्र होती थी लेकिन अब यह उनकी पहुँच से दूर हो चुकी है. आप 10 लाख का सूट पहनना पसंद करते है और मुझे लगता है की कैलेंडर में आपकी तस्वीर , केवल झूठी विश्वनीयता प्राप्त करने के लिए उठाया गया कदम है.

तुषार गाँधी ने इस बयान को नाराजगी नही बल्कि दर्द बताते हुए कहा की अब वक्त आ गया है जब बापू को KVIC को राम राम कह देना चाहिए. तुषार गाँधी के अलावा खादी ग्रामोधोग में काम कर रहे कुछ कर्मचारियों ने भी इस पर नाराजगी जाहिर की है. उन्होंने कैलंडर में गाँधी की जगह मोदी की तस्वीर लगाने को महात्मा गांधी का अपमान बताया. इनमे से कुछ कर्मचारियों ने आज अपना विरोध दर्ज कराने के लिए लंच के दौरान मुंह पर काली पट्टी बाँधी.

Loading...