कंगना और अर्नब के खिलाफ महाराष्ट्र विधान परिषद ने विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव को मिली मंजूर

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत रिपब्लिक टीवी के मैनेजिंग डायरेक्टर और एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी के खिलाफ आज महाराष्ट्र विधानसभा और विधानपरिषद में शिवसेना द्वारा विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव पेश किया गया। जिससे मंजूर कर लिया गया है।

अर्नब गोस्वामी पर आरोप है कि उन्होने सीएम उद्धव ठाकरे के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी की। ये प्रस्ताव शिवसेना की मनीषा कायंदे ने पेश किया। दूसरी तरफ कंगना के खिलाफ कांग्रेस विधायक अशोक (भाई) जगताप ने मुंबई को लेकर अपमानजनक टिप्पणी का आरोप लगाते हुए विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव पेश किया। एनसीपी नेता छगन भुजबल और अबू आजमी ने भी इस प्रस्ताव का समर्थन किया।

प्रस्ताव को रामराजे नाइक ने स्वीकार किया। उन्होंने कहा, ‘मैंने विशेषाधिकार हनन के प्रस्ताव को स्वीकार किया है। इसके लिए समिति न होने की वजह से मैं ही आज इस प्रस्ताव पर फैसला करने जा रहा हूं। संसदीय मामलों के मंत्री ने प्रस्ताव स्वीकार करने के पीछ दलील दी कि पीएम मोदी पर टिप्पणी करने पर बीजेपी आक्रामक हो जाती है तो फिर मुख्यमंत्री पर टिप्पणी करने पर कार्रवाई क्यों नहीं होनी चाहिए।

उल्लेखनीय है कि बीते दिनों कंगना रनौत ने मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर यानी पीओके से की थी। कंगना ने ट्विटर पर लिखा था, ‘संजय राउत ने मुझे खुलेआम  धमकी दी है और मुंबई नहीं आने को कहा है। मुंबई की गलियों में आजादी के भित्ति चित्र और अब खुली धमकी, मुंबई पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर जैसी फ़ीलिंग क्यों दे रहा है?’

वहीं टीवी पत्रकार अर्नब गोस्वामी ने अपने प्रोग्राम में उद्धव ठाकरे को  डिबेट की खुली चुनौती दी थी। अर्नब सुशांत सिंह केस पर टीवी डिबेट में संजय राउत पर भी जमकर गरजे थे और उन्हें भी इंटरव्यू के लिए खुली चुनौती दी थी।

विज्ञापन