भोपाल | हाल ही में कुछ स्वघोषित संतो और बाबाओ के कई संगीन मामले सामने आने के बाद अखिल भारतीय अखाडा परिषद ने 14 फर्जी बाबाओ की एक लिस्ट जारी की थी. इसमें आसाराम, गुरमीत राम रहीम, राधे माँ, रामपाल , निर्मल बाबा, स्वामी ओम जैसे बाबाओ के नाम शामिल थे. अखाडा परिषद की इस पहल की पुरे देश में तारीफ की गयी. लेकिन अब एक चौकाने वाली खबर सामने आई है.

दरअसल फर्जी बाबाओ की लिस्ट जारी करने वाले अखाडा के प्रवक्ता और उदासी अखाडा के महंत मोहन दास लापता हो गए है. उनसे सम्पर्क करने पर उनका मोबाइल भी स्विच ऑफ आ रहा है. अखाडा परिषद का कहना की फर्जी बाबाओ की लिस्ट जारी करने के बाद से ही उन्हें काफी धमकिया मिल रही है. फ़िलहाल मामले में पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर महंत मोहन दास की तलाश शुरू कर दी है. खबर लिखे जाने तक उनका कुछ पता नही चला था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मिली जानकारी के अनुसार महंत मोहन दास शुक्रवार को अपने एक सेवक के साथ हरिद्वार से मुंबई जाने के लिए लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस में बैठे थे. सेवक ने पुलिस को बताया की शनिवार को वह कुछ सामान की खरीदारी करने के लिए भोपाल रेलवे स्टेशन पर उतरे थे. लेकिन जब वो वापिस आये तो उन्हें महंत ट्रेन में नही मिले. इसके बाद उन्होंने महंत का मोबाइल नंबर भी मिलाने का प्रयास किया लेकिन वो स्विच ऑफ आया.

फ़िलहाल अखाडा परिषद की तरफ से कनखल में जीरो एफआईआर दर्ज करायी गयी है. रेलवे पुलिस के अनुसार महंत के फोन की आखिरी लोकेशन मेरठ दिखा दिखा रहा है. उधर अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि का कहना है की फर्जी बाबो की लिस्ट जारी करने के बाद से ही उन्हें धमकिया मिल रही है. फ़िलहाल इस मामले में अखाडा परिषद और हरिद्वार के कुछ संतो ने पुलिस को चेतावनी दी है की अगर 24 घंटे में महंत की कोई खबर नही मिली तो वह पुलिस प्रशासन के खिलाफ उग्र आन्दोलन करेंगे.

Loading...