mj

#MeToo अभियान के तहत यौन शोषण के आरोपों में घिरे विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर पर अब तक 6 महिला पत्रकारों ने गंभीर आरोप लगाए है। इसी बीच सातवीं महिला सामने आई है। जिसने अकबर पर जबरन पकड़कर कर किस करने का आरोप लगाया है।

समाचार पोर्टल ‘द वायर’ पर महिला पत्रकार गजाला वहाब ने बताया कि ऑफिस में उनका तीसरा साल था, तभी अकबर की नजर उन पर पड़ी। उनका डेस्क अकबर के केबिन के सामने शिफ्ट कर दिया गया। अकबर अक्सर उन्हें घूरते रहते और अश्लील मैसेज भेजते। इसके बाद अकबर ने उन्हें अक्सर अपने केबिन में बुलाना शुरू कर दिया। गेट बंद कर लेते और  ज्यादातर निजी बातचीत करते। कई बार वे कॉलम लिख रहे होते और सामने बैठने को कहते ताकि जरूरत पड़ने पर डिक्शनरी से उनके लिए वो शब्द देखें। स्टैंड पर रखी डिक्शनरी को देखने के लिए झुकना होता था।

गजाला लिखती हैं-1997 की बात है। डिक्शनरी देखने के दौरान ही एक बार अकबर ने पीछे से आकर उन्हें जकड़ लिया। ऊपर से नीचे तक छुआ। उन्होंने छुड़ाने की कोशिश की, लेकिन अकबर प्लास्टर की तरह चिपके रहे। गजाला लिखती हैं कि वे इसके बाद टॉयलेट में जाकर रोती रहीं। अगली शाम अकबर ने फिर उन्हें केबिन में बुलाया और दरवाजा बंद करके किस किया। वो खुद को छुड़ाने के लिए संघर्ष करती रहीं। ऑफिस से बाहर आकर पार्किंग वाली जगह में बैठकर रोईं।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ईसके साथ ही गजाला ने लिखा है कि 21 साल गुजरने के बाद वे इन घटनाओं को पीछे छोड़ आई हैं। उन्‍होंने संकल्‍प लिया था कि वह पीडि़त नहीं बनेंगी और न ही किसी को यह मौका देंगी कि वह उनका करियर बर्बाद कर सके। वहाब वर्तमान में फोर्स मैगजीन की एक्जिक्यूटिव एडिटर हैं।

मी टू अभियान में एमजे अकबर का नाम सामने आने के बाद कांग्रेस, सपा समेत तमाम विपक्षी दल भी सरकार पर दबाव बना रहे हैं और एमजे अकबर के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं। बता दें कि एमजे अकबर फिलहाल नाइजीरिया में हैं। इस मामले में अब तक न तो सरकार की ओर से और न ही एमजे अकबर की ओर से कोई सफाई दी गई है।

Loading...